ऑटोमोबाइल सेक्टर में मंदी को लेकर भाजपा सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने एक अजीबोगरीब बयान दिया है. गुरूवार को भाजपा सांसद ने लोकसभा में कहा, ‘देश और सरकार को बदनाम करने के लिए लोग कह रहे हैं कि ऑटो सेक्टर में मंदी है और वाहनों की बिक्री कम है. अगर ऑटो सेक्टर में मंदी है तो एक-एक घर में कई गाड़ियां और सड़क पर जाम क्यों लगा है?’

पीटीआई के मुताबिक वीरेंद्र सिंह मस्त ने लोकसभा में किसानों के एक मुद्दे पर चर्चा के दौरान यह टिप्पणी की. भाजपा सांसद ने चर्चा के दौरान यह भी कहा, ‘प्याज को महंगे होने की बात की जा रही है, लेकिन मैं अपने संसदीय क्षेत्र (बलिया) के मोहमदाबाद में 25 रुपये किलोग्राम की दर से एक ट्रक प्याज दिलवा सकता हूं.’

देश में आर्थिक मंदी पर बोलते हुए वीरेंद्र सिंह का कहना था, ‘लोग जीडीपी की बातें करते हैं, लेकिन ग्रामीण अर्थव्यवस्था इस पैमाने से तय नहीं हो सकती है. ग्रामीण अर्थव्यवस्था मजबूत है क्योंकि यह श्रम आधारित है और यहां बचत की परंपरा है. उन्होंने कहा कि आज गांवों और कस्बों में जाकर देखा जा सकता है कि लोग बड़े पैमाने पर पैसे जमा करा रहे हैं.’

भाजपा सांसद ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि ये लोग किसानों से बात नहीं करते हैं, किसानों को नहीं जानते, सिर्फ किताबों में किसान के बारे में पढ़ते हैं. आजाद भारत में पहली बार नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार ने सभी किसानों को उनके खाते में सीधे पैसे दिए.