उत्तर प्रदेश के उन्नाव में बलात्कार की एक पीड़िता को जलाए जाने की घटना के बाद राज्य की कानून व्यवस्था एक बार फिर सवालों के घेरे में आ गई है. इस घटना पर योगी आदित्यनाथ सरकार में मंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह ने एक विवादित बयान दिया है. गुरूवार को रणवेंद्र प्रताप सिंह से जब एएनआई के संवाददाता ने घटना को लेकर सवाल किया तो उनका कहना था, ‘जब समाज है, तो समाज में यह कह देना कि सौ फीसदी क्राइम नहीं होगा, ये गारंटी तो मुझे नहीं लगता भगवान राम भी दे पाए हों. लेकिन यह निश्चित है कि अगर कहीं क्राइम हुआ है तो सजा होगी और वो जेल जाएगा.

गुरूवार को उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में बलात्कार की एक पीड़िता को उस समय जिंदा जलाने की कोशिश की गयी जब वह मामले की सुनवाई के लिए कोर्ट जा रही थी. मामले में पांचों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इनमें बलात्कार का आरोपित एक शख्स भी शामिल है. पीड़िता को लखनऊ के श्यामा प्रसाद मुखर्जी अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां डॉक्टरों ने कहा कि वह 90 फीसदी तक जल गई है और उसकी हालात बहुत गंभीर है.

इस घटना की गूंज आज संसद में भी सुनाई दी. राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने कहा कि ऐसे मामलों में तेजी से कार्रवाई होनी चाहिए. ये घटना ऐसे समय पर हुई है जब हैदराबाद की एक डॉक्टर के साथ सामूहिक बलात्कार के बाद उसकी हत्या को लेकर देश भर में आक्रोश है.