उन्नाव में बलात्कार के बाद आग के हवाले की गई पीड़िता की हालत बहुत नाजुक है. उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है. पीड़िता का इलाज कर रहे चिकित्सकों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. पीड़िता को कल शाम लखनऊ से एयर एम्बुलेंस के माध्यम से दिल्ली लाकर सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अस्पताल में ‘बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी’ विभाग के प्रमुख डॉ. शलभ कुमार ने कहा, ‘मरीज की हालत बहुत गंभीर है और उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है.’ उन्होंने बताया कि पीड़िता के महत्वपूर्ण अंग ठीक से काम नहीं कर रहे हैं.

दिल्ली यातायात पुलिस ने बृहस्पतिवार को पीड़िता को बिना वक्त गंवाए एंबुलेंस से अस्पताल तक पहुंचाने के लिए हवाई अड्डे से अस्पताल तक ‘ग्रीन कॉरीडोर’ बनाया था. सफदरजंग अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. सुनील गुप्ता ने कहा, ‘हमने मरीज के लिए अलग आईसीयू कक्ष बनाया है. चिकित्सकों का एक दल उसकी हालत पर लगातार नजर रख रहा है.’

पुलिस ने बताया कि बलात्कार पीड़िता जब सुनवाई के लिए अदालत जा रही थी तो बलात्कार के दो आरोपितों समेत पांच लोगों ने उसे कथित रूप से आग के हवाले कर दिया था. इस दौरान पीड़िता 90 प्रतिशत तक झुलस गई. पांचों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है.