गृह मंत्री अमित शाह के सामने उद्योगपति राहुल बजाज बोले- लोग सरकार की आलोचना करने से डर रहे हैं | रविवार, 01 दिसंबर 2019

देश के जाने-माने उद्योगपति राहुल बजाज ने कहा कि देश में इस समय खौफ का माहौल है और लोग सरकार की आलोचना करने से डर रहे हैं. राहुल बजाज ने मुंबई के एक कार्यक्रम में यह बात कही. इस कार्यक्रम में देश के गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद थे.

इकनॉमिक टाइम्स अवार्ड समारोह में राहुल बजाज ने नाथूराम गोडसे और प्रज्ञा ठाकुर प्रकरण को उठाते हुए कहा, ‘पहले तो प्रज्ञा ठाकुर को टिकट दिया गया ,फिर उन्हें डिफेंस कमेटी में लिया गया. ये माहौल जरूर हमारे मन में है, लेकिन इसके बारे में कोई बोलेगा नहीं.’ राहुल बजाज ने आगे कहा, ‘हमारे उद्योगपति दोस्तों में कोई नहीं बोलेगा, मैं खुले तौर पर इस बात को कहता हूं.... जब यूपीए-2 सरकार सत्ता में थी तो हम किसी की भी आलोचना कर सकते थे. आप अच्छा काम कर रहे हैं, उसके बाद भी हमें विश्वास नहीं है कि हम आपकी खुले तौर पर आलोचना करें तो आप इसे पसंद करेंगे.’

सस्ते कॉल-डेटा का दौर खत्म, वोडाफोन-आइडिया, एयरटेल और रिलायंस जियो ने दरें बढ़ाईं | सोमवार, 02 दिसंबर 2019

देश की शीर्ष दूरसंचार कंपनियों ने अपने कॉल और डेटा शुल्क बढ़ाने की घोषणा की. दूरसंचार कंपनी वोडाफोन-आइडिया ने तीन दिसंबर से अपने कॉल और डाटा प्लान 42 प्रतिशत तक बढ़ाने की बात कही. कंपनी ने चार साल में पहली बार दरें बढ़ाई हैं. वोडाफोन-आइडिया के बाद एयरटेल और रिलायंस जियो ने भी अपनी दरें बढ़ाईं. भारती एयरटेल ने तीन दिसंबर से 41 प्रतिशत वृद्धि की घोषणा की, जबकि रिलायंस जियो ने छह दिसंबर से 40 प्रतिशत तह बढ़ोतरी की घोषणा की.

जमीयत ने अयोध्या विवाद में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल की | मंगलवार, 03 दिसंबर 2019

जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर पुनर्विचार याचिका दाखिल की. अपने इस फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या की विवादित जमीन हिंदू पक्ष को देने का आदेश दिया था. उसने यह भी कहा था कि मुस्लिम पक्ष को मस्जिद के निर्माण के लिए अयोध्या में ही किसी मुख्य जगह पर पांच एकड़ जमीन दी जाए. जमीयत के मुखिया मौलाना अरशद मदनी ने दावा किया कि देश की मुस्लिम आबादी का ज्यादातर हिस्सा इस फैसले के खिलाफ है. उनका यह भी कहना था, ‘अदालत ने हमें इसका अधिकार दिया है और पुनर्विचार याचिका दायर की ही जानी चाहिए.’

जमीयत मुखिया का आगे कहना था, ‘इस केस में मुख्य विवाद इस पर था कि क्या मस्जिद किसी मंदिर को नष्ट करके बनाई गई. अदालत ने कहा कि इसका कोई सबूत नहीं है, इसलिए जमीन पर मुस्लिम पक्ष का दावा साबित होता है. लेकिन आखिर में फैसला उल्टा निकला. चूंकि फैसला हमारी समझ में नहीं आया इसलिए हम पुनर्विचार याचिका दाखिल कर रहे हैं.’

भारत में मोबाइल इंटरनेट दुनिया में सबसे सस्ता : रविशंकर प्रसाद | बुधवार, 04 दिसंबर 2019

केंद्रीय दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सोमवार को कहा कि देश में मोबाइल इंटरनेट दुनिया के अन्य देशों के मुकाबले काफी सस्ता है. देश की शीर्ष दूरसंचार कंपनियों के कॉल और डेटा शुल्क बढ़ाने की घोषणा के एक दिन बाद उन्होंने यह बात कही.

रविशंकर प्रसाद ने ट्विटर पर लिखा, ‘भारत में प्रति जीबी मोबाइल इंटरनेट दर दुनिया में सबसे कम है. यह दुनियाभर में मोबाइल डेटा प्लान की तुलना करने वाली ब्रिटेन की वेबसाइट ‘केबल डॉट को डॉट यूके’ से पता चलता है. रविशंकर प्रसाद ने कीमत की तुलना करने वाली इस वेबसाइट के एक चार्ट को भी पोस्ट किया. उनके अनुसार भारत में एक गीगाबाइट (जीबी) डाटा की लागत 0.26 डॉलर है, जबकि ब्रिटेन में यह 6.66 डॉलर और अमेरिका में 12.37 डॉलर है.

तिहाड़ जेल से रिहा होने के बाद पी चिदंबरम बोले- मेरे खिलाफ एक भी आरोप तय नहीं किया गया | गुरूवार, 05 दिसंबर 2019

वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम तिहाड़ जेल से रिहा कर दिए गये. 106 दिनों के बाद तिहाड़ जेल से बाहर आए चिदंबरम ने मीडिया से कहा, ‘इतने दिनों तक कैद में रखने के बावजूद मेरे खिलाफ एक भी आरोप तय नहीं किया गया.’ हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि वह इस मामले पर अभी और कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते हैं. पूर्व वित्त मंत्री के जेल से बाहर आने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया.

इस अवसर पर उनके बेटे कार्ति चिदंबरम भी मौजूद थे. इससे पहले बुधवार सुबह दिल्ली हाई कोर्ट के फैसले को पलटते हुए सुप्रीम कोर्ट ने आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्डरिंग मामले में पी चिदंबरम को जमानत दे दी थी. पीटीआई के मुताबिक कोर्ट ने उन्हें दो लाख रुपये का निजी मुचलका भरने और इतनी ही राशि के दो जमानती लाने की शर्त पर यह जमानत दी.

आरबीआई : ब्याज दरों में कटौती नहीं, आर्थिक वृद्धि के अनुमान को भी घटा पांच फीसद किया | शुक्रवार, 06 दिसंबर 2019

उद्योग एवं पूंजी बाजार की उम्मीदों को झटका देते हुये रिजर्व बैंक ने गुरुवार को मौद्रिक नीति समीक्षा में अपनी नीतिगत ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं किया. आर्थिक वृद्धि सुस्त होने के बावजूद केंद्रीय बैंक ने महंगाई बढ़ने की चिंता में रेपो दर को 5.15 प्रतिशत के पूर्व स्तर पर बरकरार रखा. इससे पहले लगातार पांच बार रिजर्व बैंक ने रेपो दर में 1.35 प्रतिशत की कटौती कर चुका है.

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता वाली छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने एक मत से रेपो दर को 5.15 प्रतिशत और रिवर्स रेपो दर को 4.90 प्रतिशत पर बनाये रखने के पक्ष में सहमति दी. रेपो दर वह दर होती है जिस पर वाणिज्यिक बैंक अपनी त्वरित नकदी जरूरतों के लिये केंद्रीय बैंक से नकदी प्राप्त करते हैं. जबकि रिवर्स रेपो दर के तहत केंद्रीय बैंक, प्रणाली में अतिरिक्त नकदी को नियंत्रित करने के लिये बैंकों से नकदी उठाता है.

सरकार ने राहत नहीं दी तो वोडाफोन-आइडिया बंद हो जाएगी : कुमार मंगलम बिड़ला | शनिवार, 07 दिसंबर 2019

वोडाफोन-आइडिया की बदहाल माली हालत एक बार फिर सुर्खियों में आ गयी. कंपनी के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने कहा कि सरकार ने कोई राहत नहीं दी तो वोडाफोन-आइडिया बंद हो जाएगी. उन्होंने कहा कि कंपनी की हालत खराब है और डूबते पैसे में और पैसा लगाने का कोई मतलब नहीं है. इससे पहले इस संयुक्त उपक्रम में सबसे बड़े हिस्सेदार ब्रिटेन के वोडाफोन समूह की तरफ से भी ऐसा ही बयान आया था. समूह के मुखिया निक रीड ने कहा था कि वोडाफोन-इंडिया बंद होने के कगार पर है. हालांकि बाद में उनका बयान आया कि मीडिया में उनके बयान को तोड़मरोड़कर पेश किया गया.

हालिया तिमाही में वोडाफोन-आइडिया को 50 हजार करोड़ रु से ज्यादा का घाटा हुआ है. भारत के इतिहास में किसी कंपनी को एक तिमाही में हुआ यह सबसे ज्यादा घाटा है. कंपनी की खराब हालत के चलते कुमार मंगलम बिड़ला की संपत्ति में भी बड़ी गिरावट देखने को मिली है. पिछले दो साल में उनकी संपत्ति 21500 करोड़ रुपये घटकर करीब 43 हजार करोड़ रु पर आ गई.

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.