महाराष्ट्र भाजपा में टकराव की खबरों के बीच पार्टी की वरिष्ठ नेता पंकजा मुंडे मंगलवार को मुंबई में पार्टी इकाई की कोर कमेटी की बैठक से नदारद रहीं. पीटीआई के मुताबिक वे इस बैठक में यह बोलकर शामिल नहीं हुईं कि उन्हें 12 दिसंबर को बीड के गोपीनाथगढ़ में होने वाले अपने भाषण की तैयारियों का काम देखना है. अपने पिता और पूर्व केंद्रीय मंत्री दिवंगत गोपीनाथ मुंडे की जयंती पर हर साल वहां जनसभा करने वाली पंकजा मुंडे भाजपा की मंडल स्तर की बैठकों से भी गायब रही हैं. वे इसी सोमवार को औरंगाबाद में हुई पार्टी की क्षेत्रीय स्तर की बैठक में भी शामिल नहीं हुईं. हालांकि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि वे अस्वस्थ होने के चलते इसमें हिस्सा नहीं ले पाईं.

पंकजा मुंडे अक्टूबर में हुए विधानसभा चुनाव में महाराष्ट्र की परली सीट पर अपने चचेरे भाई और एनसीपी नेता धनंजय मुंडे से हार गई थीं. ऐसी चर्चाएं हैं कि वे भाजपा के साथ खुश नहीं हैं. हाल ही में उन्होंने यह कहकर इन चर्चाओं को और हवा दे दी कि वे 12 दिसंबर को कोई बड़ा ऐलान कर सकती हैं. हालांकि भाजपा नेतृत्व ने पंकजा मुंडे के पार्टी से अलग जाने की अटकलों को बार-बार खारिज किया है.