उत्तर प्रदेश जेल विभाग ने गुरुवार को कहा कि वह तिहाड़ जेल प्रशासन को अपराधियों को फांसी देने के लिये दो जल्लाद उपलब्ध कराने को तैयार है. ऐसी अटकलें लगायी जा रही हैं कि यह जल्लाद निर्भया सामूहिक बलात्कार के दोषियों को फांसी सजा देने के लिये मांगे जा रहे हैं, लेकिन आधिकारिक स्तर पर इसकी पुष्टि नहीं हुई है. 2012 निर्भया बलात्कार कांड के चार आरोपी पवन गुप्ता, अक्षय ठाकुर, मुकेश सिंह और विजय ठाकुर तिहाड़ जेल में बंद है.

उत्तर प्रदेश के अपर पुलिस महानिदेशक (जेल) आनंद कुमार ने गुरुवार को संवाददाताओं को बताया कि तिहाड़ जेल ने पत्र के माध्यम से प्रदेश में जल्लादों की उपलब्धता पर सूचना मांगी थी. उन्होंने कहा कि हमारे पास फांसी देने के लिए अधिकृत दो जल्लाद उपलब्ध हैं, तिहाड़ जेल को जब भी आवश्यकता होगी, उन्हें दोनों उपलब्ध करा दिए जाएंगे. जेल विभाग को तिहाड़ जेल से नौ दिसंबर को फैक्स से एक पत्र मिला था, उसमें उत्तर प्रदेश के दो जल्लादों के बारे में जानकारी मांगी गयी थी. हालांकि पत्र में यह नहीं लिखा था तिहाड़ जेल किसे फांसी देने के लिए इन जल्लादों को मांग रहा है.

एडीजी जेल आनंद कुमार के अनुसार उप्र में लखनऊ व मेरठ जेल में दो जल्लाद हैं. तिहाड़ जेल प्रशासन की ओर से जब कोई तिथि निर्धारित की जाएगी, तब उन्हें जल्लाद उपलब्ध करा दिए जाएंगे. तिहाड़ जेल प्रशासन को लखनऊ व मेरठ जेल में दो जल्लाद उपलब्ध होने की सूचना दे दी गई है.