असम के गुवाहाटी में प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की फायरिंग में दो लोगों की मौत हो गई है. गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज के एक अधिकारी ने पीटीआई को बताया कि एक व्यक्ति को मृत लाया गया था जबकि एक अन्य की इलाज के दौरान मौत हो गई. हालांकि, अधिकारी अब तक मरने वालों की पहचान नहीं कर सके हैं. उन्होंने कहा, ‘मरने वाले कौन हैं इसका पता नहीं लग सका है.’

संसद के दोनों सदनों में पारित हो चुके नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर पूर्वोत्तर में हालात बिगड़ते जा रहे हैं. गुरूवार को असम के गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ में भारी हिंसा हुई. गुवाहाटी में आज कर्फ्यू तोड़कर लोग बड़ी संख्या में सड़क पर उतरे और इस विधेयक के खिलाफ प्रदर्शन किया. डिब्रूगढ़ में प्रदर्शनकारियों ने असम राज्य परिवहन निगम के बस टर्मिनल सहित कई सरकारी कार्यालयों को आग के हवाले कर दिया. असम में कई अन्य जगहों पर सत्ताधारी भाजपा के नेताओं और मंत्रियों के घरों और दफ्तरों पर भी हमले हुए.

त्रिपुरा में भी इस विधेयक के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. इन दोनों ही राज्यों में हालात से निपटने के लिए सेना बुलाई गई है. रेलवे ने असम और त्रिपुरा आने-जाने वाली सभी यात्री ट्रेनों को रद्द कर दिया है. उधर, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में भी हालात बिगड़ने की खबर है. बताया जा रहा है कि मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा इस मुद्दे पर आज केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करेंगे. नागरिकता संशोधन विधेयक में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से भारत आने वाले गैरमुस्लिमों को आसानी से नागरिकता देने का प्रावधान है.

उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्वोत्तर को लोगों को आश्वस्त करने की कोशिश की है. आज एक ट्वीट में उन्होंने कहा कि असम के लोगों की पहचान और उनके अधिकार कोई नहीं छीन सकता.