बलात्कार को लेकर अपने एक बयान पर भाजपा के हमलों का निशाना बने कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला है. दिल्ली के रामलीला मैदान में सरकार की आर्थिक नीतियों के विरोध में बुलाई गई एक रैली में उन्होंने कहा कि ‘वे रेप इन इंडिया’ वाले अपने बयान के लिए माफी नहीं मांगेगे. राहुल गांधी ने कहा, ‘मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं है. मेरा नाम राहुल गांधी है. मैं सच्चाई के लिए माफी नहीं मांगूंगा. मर जाऊंगा लेकिन माफी नहीं मांगूंगा.’ उन्होंने आगे कहा, “माफी प्रधानमंत्री और उनके असिस्टेंट अमित शाह को मांगनी है. पहले अर्थव्यवस्था हमारी शक्ति थी... नौ फीसदी जीडीपी ग्रोथ रेट थी और आज प्याज पकड़े हुए हैं.’

झारखंड में एक चुनावी रैली में राहुल गांधी ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेक इन इंडिया का वादा दिया था लेकिन अखबार खोलो तो रेप इन इंडिया दिखता है. कल संसद के दोनों सदनों में भी उनके इस बयान पर काफी हंगामा हुआ. स्मृति ईरानी ने लोकसभा में कहा, ‘ये पहली बार हुआ है, जब गांधी परिवार का बेटा ये कहता है कि आओ हिंदुस्तान में रेप करो. राहुल गांधी इस सदन के नेता हैं. क्या राहुल गांधी ये कहना चाहते हैं कि हिंदुस्तान का हर व्यक्ति रेप करना चाहता है?’’ इसके बाद राहुल गांधी ने ट्विटर पर सफाई दी. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक पुराना वीडियो भी शेयर किया जिसमें वे दिल्ली को ‘रेप कैपिटल’ बता रहे थे. भाजपा ने राहुल गांधी से माफी की मांग भी की थी जिसे उन्होंने खारिज कर दिया.

रामलीला मैदान में राहुल गांंधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अर्थव्यवस्था को नष्ट करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, ‘काले धन का ख़ात्मे का हवाला देकर, आपसे झूठ बोलकर नोटबंदी की. उसके बाद गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी).’ राहुल गांधी ने साथ ही आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री उद्योगपतियों के दम पर मीडिया में छाए रहते हैं. उन्होंने कहा, ‘टीवी पर कोई एक 30 सेकेंड का विज्ञापन आता है, वो लाखों का आता है. नरेंद्र मोदी टीवी पर दिनभर दिखते हैं रोज़. इसका पैसा कौन दे रहा है? इसका पैसा वो लोग दे रहे हैं जिनको नरेंद्र मोदी आपका पैसा छीनकर दे रहे हैं.’