महाराष्ट्र भाजपा में गुटबाजी को लेकर बयानबाजी का सिलसिला थम नहीं रहा है. भाजपा के पूर्व विधायक अनिल गोटे ने महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और उनके ‘दरबारियों’ पर एकनाथ खडसे और पंकजा मुंडे जैसे जन नेताओं के खिलाफ षड्यंत्र करने का आरोप लगाया है. हाल ही में राकांपा में शामिल होने वाले अनिल गोटे ने मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास को ‘वर्षा नाइट क्लब’ करार दिया और कहा कि वहां भाजपा के कई नेताओं के खिलाफ ‘षड्यंत्र’ रचे जाते हैं.

अनिल गोटे ने आरोप लगाया कि तत्कालीन मंत्री गिरीश महाजन सहित भाजपा नेताओं का एक समूह प्रत्येक रात देवेंद्र फडणवीस के मुंबई स्थित उनके आधिकारिक आवास (वर्षा) पर मुलाकात करता और इनके द्वारा इन जन नेताओं के स्थानीय प्रतिद्वंद्वियों को मजबूत करने का षड्यंत्र रचा जाता था. अनिल गोटे ने कहा कि वह शरद पवार नीत पार्टी में इसलिए शामिल हुए क्योंकि वह इस ‘वर्षा नाइट क्लब’ के षड्यंत्रों से तंग आ गए थे.

अनिल गोटे का 12 दिसंबर को दिया गया बयान ऐसे दिन आया जब असंतुष्ट भाजपा नेताओं पंकजा मुंडे और एकनाथ खडसे ने फडणवीस का नाम लिये बगैर उनके खिलाफ बगावत का झंडा बुलंद कर रखा है.