दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) ने सोमवार को जामिया नगर में हिंसा एवं पुलिस क्रूरता के मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है. उसने भाजपा पर हिंसा की राजनीति में शामिल होने का आरोप लगाया है. आप ने छात्रों से शांति बनाये रखने की अपील भी की है.

पीटीआई के मुताबिक दिल्ली के आप संयोजक गोपाल राय ने आरोप लगाया कि इस समय भाजपा दिल्ली के आगामी विधानसभा चुनाव में हार की आशंका को लेकर काफी निराश है और इसी के चलते वह हिंसा की राजनीति कर रही है. राय का यह भी कहना था कि अमित शाह जब से देश के गृह मंत्री बने हैं, दिल्ली की कानून व्यवस्था चरमरा गयी है.

उन्होंने आगे कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के जामिया नगर में रविवार को हुई हिंसा से आम आदमी पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है.

जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों पर हुई पुलिस की कार्रवाई के बाद सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी शहर में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर चिंता जताई थी. उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह से मिलने का समय भी मांगा. अरविंद केजरीवाल ने एक ट्वीट कर कहा, ‘दिल्ली की बिगड़ती क़ानून व्यवस्था को लेकर मैं बहुत चिंतित हूं, दिल्ली में तुरंत शांति बहाल की जाए, इसके लिए गृह मंत्री अमित शाह जी से मिलने का समय मांगा है.’