एनसीपी मुखिया शरद पवार ने कहा है कि देश भर में भाजपा विरोधी भावनाएं बढ़ रही हैं. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक उनका यह भी कहना था कि लोगों को एक विकल्प की जरूरत है जो देश में रहता हो. माना जा रहा है कि शरद पवार ने यह चुटकी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर ली है. राहुल गांधी ने इससे एक दिन पहले कहा था कि दक्षिण कोरिया के दौरे पर वे वहां के प्रधानमंत्री ली नाक उन से मिले हैं.

जब शरद पवार से सभी राज्यों में एनआरसी लागू करने की भाजपा की योजना के बारे में पूछा गया तो उनका कहना था, “बहस चल रही है कि क्या नागरिकता संशोधन कानून न्यायिक जांच की परीक्षा पास कर पाएगा. दोनों तरफ के लोग अपने तर्क रख रहे हैं, इसलिए हमें देखना होगा.’

नए नागरिकता कानून का देश के कई हिस्सों में तीखा विरोध हो रहा है. इसके तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आए गैर मुस्लिमों को आसानी से भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है. पूर्वोत्तर के लोगों को आशंका है कि इसके बाद बांग्लादेश से लोगों का आना और बढ़ेगा जिससे उनकी पहचान और आजीविका खतरे में पड़ेगी. हालांकि केंद्र सरकार ने उन्हें आश्वस्त करने की कोशिश की है.