उत्तर प्रदेश में जलाई गई एक और बलात्कार पीड़िता की मौत हो गई है. मामला फतेहपुर जिले का है. आरोपित ने पीड़िता को तब मिट्टी का तेल उड़ेलकर जला दिया था जब उसके परिजन उसे थाने ले जा रहे थे. 90 फीसदी तक झुलसी हालत में उसे उसे कानपुर मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया था. दो दिन पहले हालत बिगड़ने की वजह पीड़िता कोमा में चली गई थी. डॉक्टरों का कहना है कि संक्रमण काफी फैल गया था जिसके चलते उसकी मौत हो गई.

इससे पहले उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया था. वहां एक बलात्कार पीड़िता को तब आग लगा दी गई थी जब वह कोर्ट में अपनी तारीख के लिए जा रही थी. पीड़िता को गंभीर हालत में एयरलिफ्ट कर दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में लाया गया था. लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका था. उस पर हमला करने वालों में बलात्कार के दो आरोपित भी शामिल थे. इन सभी को गिरफ्तार कर लिया गया है. हाल ही में बागपत में भी एक बलात्कार पीड़िता के घर के बाहर एक पोस्टर चिपकाए जाने की खबर आई थी. इसमें लिखा था कि अगर वह गवाही देने अदालत गई तो परिणाम उन्नाव से भी भयंकर होगा.