कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर फिर निशाना साधा है. पीटीआई के मुताबिक उन्होंने दावा किया कि यह नोटबंदी से बड़ा झटका होगा जिससे बहुत ज्यादा नुकसान होगा. कांग्रेस के 135वें स्थापना दिवस के मौके पर राहुल गांधी ने पार्टी मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा, ‘ये (एनआरसी और एनपीआर) नोटबंदी नंबर 2 है. इससे हिंदुस्तान के गरीबों को बहुत नुकसान होने जा रहा है. नोटबंदी तो भूल जाइये. ये उससे दोगुना झटका होगा.’ इसमें हर गरीब आदमी से पूछा जाएगा कि वह हिंदुस्तान का नागरिक है या नहीं. लेकिन उनके जो 15 दोस्त हैं उनको कोई दस्तावेज दिखाने की जरूरत नहीं पड़ेगी.’

राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि नोटबंदी की तरह एनआरसी और एनपीआर की प्रक्रिया से भी सरकार के कुछ ‘पूंजीपति मित्रों; को फायदा होगा. कांग्रेस नेता ने देश में डिटेंशन सेंटर यानी हिरासत केंद्र नहीं होने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान को लेकर भी उन पर निशाना साधा. राहुल गांधी ने उस वीडियो का भी हवाला दिया जो कुछ दिन पहले उन्होंने ट्विटर पर पोस्ट किया था. उन्होंने कहा, ‘क्या आप लोगों ने प्रधानमंत्री का भाषण सुना है. क्या आपने डिटेंशन सेंटर का वीडियो देखा है. अब तय कर लीजिए कि झूठ कौन बोल रहा है?’ इससे पहले गांधी ने बृहस्पतिवार को भी प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा था और आरोप लगाया था कि ‘आरएसएस के प्रधानमंत्री’ भारत माता से झूठ बोलते हैं.