कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर तीखा हमला बोला है. नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में उन्होंने आज असम के गुवाहाटी में आयोजित एक रैली को संबोधित किया. इस दौरान राहुल गांधी ने कहा, ‘असम के युवा इस कानून के खिलाफ प्रोटेस्ट कर रहे हैं. बाकी जगहों पर युवा प्रोटेस्ट कर रहे हैं. पुलिस को गोली मारने की क्या जरूरत है? जान लेने की क्या जरूरत है?’

नागरिकता कानून के विरोध में हाल में असम में काफी हिंसा हुई थी. इस दौरान दो लोगों की मौत हो गई थी. राहुल गांधी ने कहा, ‘हम बीजेपी और आरएसएस को असम की हिस्ट्री, भाषा, संस्कृति पर आक्रमण नहीं करने देंगे. असम को नागपुर नहीं चलाएगा. असम को असम की जनता चलाएगी. ये सोचें कि नॉर्थ-ईस्ट की हिस्ट्री है, भाषाएं हैं, कल्चर हैं, हम इसको दबा दें. इन्होंने नॉर्थ-ईस्ट के लोगों को नहीं पहचाना.’

राहुल गांधी ने यह भी कहा कि वे असम में हुई हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों से मिलेंगे. उन्होंने लोगों से हिंसा न करने की अपील भी की. आज कांग्रेस का स्थापना दिवस भी है. इस मौके पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने देशभर में ‘संविधान बचाओ’ रैली निकाली और नागरिकता कानून के विरोध में नारेबाजी की.