संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का समर्थन करने पर बसपा प्रमुख मायावती ने मध्य प्रदेश की अपनी विधायक रमाबाई को पार्टी ने निलंबित कर दिया है. रमाबाई मध्यप्रदेश के दमोह जिले के पथरिया सीट से बसपा विधायक हैं.

रविवार को मायावती ने ट्विटर के जरिये इसकी जानकारी दी. उन्होंने ट्वीट किया, ‘बसपा अनुशासित पार्टी है और अनुशासन तोड़ने पर पार्टी के सांसद/विधायक आदि के विरूद्ध भी तुरन्त कार्रवाई की जाती है. इसी क्रम में मध्यप्रदेश में पथरिया से बसपा विधायक रमाबाई परिहार द्वारा सीएए का समर्थन करने पर उनको पार्टी से निलंबित कर दिया गया है. उन पर पार्टी कार्यक्रम में भाग लेने पर भी रोक लगा दी गई है.’

मायावती ने आगे लिखा, ‘बसपा ने सबसे पहले इसे विभाजनकारी व असंवैधानिक बताकर इसका तीव्र विरोध किया, संसद में भी इसके विरूद्ध वोटिंग की तथा इसको वापस लिए जाने को लेकर लेकर राष्ट्रपति को ज्ञापन भी दिया. फिर भी विधायक रमाबाई ने सीएए का समर्थन किया. पहले भी उन्हें कई बार पार्टी लाइन पर चलने की चेतवानी दी गई थी.’

बीते शनिवार को बसपा विधायक रमाबाई ने सीएए का समर्थन किया था. उन्होंने ने मीडिया से बातचीत में कहा था कि सीएए बहुत अच्छा कानून है और वे इसको लागू करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देना चाहती हैं.

मध्यप्रदेश में कांग्रेस नीत कमलनाथ के नेतृत्व वाली सरकार को बसपा का समर्थन प्राप्त है. माना जा रहा है कि सीएए का समर्थन कर रमाबाई कमलनाथ पर उन्हें कैबिनेट में शामिल करने का दबाव बना रही हैं.