मनोज मुकुंद नरवाने देश के नए सेना प्रमुख बन गए हैं. उन्होंने आज जनरल बिपिन रावत की जगह ली जो देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बने हैं. 28वें सेना प्रमुख बनने वाले जनरल मुकुंद नरवाने इससे पहले सेना उप प्रमुख थे. वे सेना की पूर्वी कमान की जिम्मेदारी संभाल रहे थे जो चीन के साथ लगती करीब 4,000 किमी लंबी सीमा की रक्षा करती है.

अपने 37 साल के सेवाकाल में जनरल मुकुंद नरवाने जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर में कई अहम पदों पर रहे. इस दौरान उन्होंने इन इलाकों में कई अहम अभियानों का नेतृत्व किया. राष्ट्रीय रक्षा अकादमी और भारतीय सैन्य अकादमी के छात्र रहे मुकुंद नरवाने श्रीलंका में भारतीय शांति रक्षक बल का भी हिस्सा रहे. उन्हें सेना मेडल, विशिष्ट सेवा मेडल और अति विशिष्ट सेवा मेडल से नवाजा जा चुका है.

विदा हो रहे सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने अपनी विदाई सलामी गारद के बाद उम्मीद जताई कि नये सैन्य प्रमुख के नेतृत्व में सेना नयी ऊंचाइयों को छुएगी. पीटीआई के मुताबिक उनका कहना था, ‘मैं जनरल नरवाने को सेना का अगला प्रमुख बनने की बधाई देता हूं. वे बहुत ही सक्षम और योग्य अधिकारी हैं. जनरल नरवाने अपनी सामर्थ्य और अपने पेशेवर रवैये से सेना को और अधिक ऊंचाइयों पर ले जाएंगे.’