नवनियुक्त चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने कहा है कि सशस्त्र बल अपने आप को राजनीति से दूर रखते हैं. पीटीआई के मुताबिक उनका यह भी कहना था कि ये बल सरकार के निर्देशों के अनुरूप काम करते हैं. उनकी यह टिप्पणी इन आरोपों के बीच आयी है कि सशस्त्र बलों का राजनीतिकरण किया जा रहा है. जनरल बिपिन रावत ने यह भी कहा कि सीडीएस के तौर पर उनका लक्ष्य तीनों सेवाओं के बीच समन्वय और एक टीम की तरह काम करने पर केंद्रित होगा. उन्होंने कहा, ‘ध्यान यह सुनिश्चित करने पर होगा कि तीनों सेनाओं को मिले संसाधनों का सर्वश्रेष्ठ और सर्वोत्तम इस्तेमाल हो.’

सीडीएस के लिए सैन्य मामलों का एक नया विभाग बनाया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे एक महत्वपूर्ण कदम बताया है. उन्होंने कहा कि सीडीएस पर सैन्य बलों के आधुनिकीकरण की बड़ी जिम्मेदारी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना था, ‘इस बात की खुशी है कि जब हम नए साल और नए दशक की शुरुआत कर रहे हैं, ऐसे में भारत को जनरल बिपिन रावत के रूप में पहला चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ मिला है.’ उन्होंने आगे कहा, ‘मैं उन सभी लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं जिन्होंने देश की सेवा की और अपना जीवन कुर्बान कर दिया.’