देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने कहा है कि सेना राजनीति से बहुत दूर रहती है. उनका यह बयान कांग्रेस के इस आरोप के बाद आया कि सेना का राजनीतिकरण किया जा रहा है. जनरल बिपिन रावत ने कल ही कार्यभार संभाला है. यह खबर आज ज्यादातर अखबारों के पहले पन्ने पर है. इसके अलावा इसरो ने गगनयान अभियान के लिए वायुसेना के चार अफसरों का चयन कर लिया है. इसी महीने रूस में इनकी ट्रेनिंग शुरू होगी. गगनयान के तहत 2022 तक भारत ने अंतरिक्ष में खुद के बूते अपना अंतरिक्षयात्री भेजने का लक्ष्य रखा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी पड़ोसियों को नए साल की बधाई दी, पाकिस्तान को छोड़ा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए साल के मौके पर सभी पड़ोसी देशों के राष्ट्राध्यक्षों को बधाई दी. दैनिक जागरण के मुताबिक उन्होंने नेपाल, भूटान, बांग्लादेश, श्रीलंका के प्रधानमंत्रियों और मालदीव के राष्ट्रपति से फोन पर बात की और भारत की जनता की ओर से इन देशों की जनता के लिए शुभेच्छा जताई. खास यह रहा कि प्रधानमंत्री ने सिर्फ पाकिस्तान को छोड़ा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाकी देशों के मुखियाओं के साथ पिछले साल आपसी सहयोग की दिशा में उठाए गए कदमों की समीक्षा की. उन्होंने नए वर्ष में सहयोग की संभावनाओं पर भी चर्चा की.

घूस लेने के आरोप में डीआरआई के एडीजी गिरफ्तार

सीबीआई ने राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) के एक वरिष्ठ अधिकारी को घूस लेने के आरोप में गिरफ्तार किया है. द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक डीआरआई के अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजी) चंद्रशेखर पर 25 लाख रु की घूस लेने का आरोप है. जांच एजेंसी ने दो बिचौलियों को भी गिरफ्तार है जो एडीजी की ओर से घूस लेते रंगे हाथ पकड़े गए. सीबीआई ने एडीजी के नोएडा, दिल्ली और लुधियाना के ठिकानों को भी खंगाला है. चंद्रशेखर लुधियाना में ही डीआरआई के एडीजी के रूप में तैनात हैं.

बैंकों को विजय माल्या की संपत्ति बेचकर कर्ज वसूलने की मंजूरी मिली

मुंबई की एक विशेष अदालत ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया सहित कई बैंकों को आर्थिक अपराधी विजय माल्या की संपत्ति को बेचकर कर्ज वसूलने की अनुमति दे दी है. दैनिक भास्कर के मुताबिक हालांकि अदालत ने अपने इस फैसले के अमल पर 18 जनवरी तक की रोक लगाई है ताकि विजय माल्या चाहें तो इस आदेश के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में अपील कर सकें. स्टेट बैंक सहित कुछ सरकारी बैंकों के समूह ने लंदन की एक अदालत में पूर्व अरबपति विजय माल्या को दिवालिया घोषित करने के लिए एक याचिका डाली है. विजय माल्या पर इन बैंकों का 9,000 करोड़ रु बकाया है. जांच एजेंसियां उनके भारत प्रत्यर्पण की कोशिशों में जुटी हैं.