इंडोनेशिया में जबरदस्त बाढ़ और भूस्खलन के कारण राजधानी जकार्ता और आसपास के इलाकों में मरने वालों की संख्या बढ़कर 53 हो गई है. पीटीआई के मुताबिक भारी जल जमाव के कारण कई दिन बाद भी हजारों लोग अपने घर लौटने में असमर्थ हैं. इंडोनेशिया में नए साल से एक दिन पहले हुई भारी बारिश और बाढ़ के कारण जकार्ता में कई इलाके जलमग्न हो गए और हजारों लोग बेघर हो गए. अधिकारियों ने बताया कि अब भी करीब 1,70,000 लोग अस्थायी शिविरों में रह रहे हैं. उनके मुताबिक पानी इकट्ठा होने की वजह से अब महामारी का खतरा मंडरा रहा है.

इंडोनेशिया की राष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण एजेंसी के प्रवक्ता अगुस विबोवो ने बताया, ‘जिन लोगों के घर अब भी पानी में डूबे हुए हैं, उनसे सुरक्षित स्थानों पर जाने को कहा जा रहा है. हमें और भी शव मिले हैं.’ उन्होंने यह भी कहा कि यह देश में 2007 के बाद की सबसे भयानक बाढ़ है. उस साल आई बाढ़ में 80 लोगों की मौत हो गई थी.