भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने टेस्ट मैचों के चार दिन वाले फॉर्मेट का विरोध किया है. आईसीसी ने हाल ही में इसका प्रस्ताव दिया था. विराट कोहली का कहना है कि खेल के साथ इतनी भी छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए कि इसकी पवित्रता को चोट पहुंचने लगे.

विराट कोहली ने यह बात गुवाहाटी में भारत और श्रीलंका के बीच टी20 मैच से पहले कही. टेस्ट को क्रिकेट का शुद्धतम स्वरूप बताते हुए उनका कहना था, ‘मेरे हिसाब से ये बदलाव नहीं होना चाहिए. जैसा कि मैंने कहा, दिन-रात के मैच के साथ टेस्ट क्रिकेट के व्यावसायीकरण और इसमें रोमांच बढ़ाने की दिशा में पहले ही एक कदम उठाया जा चुका है. लेकिन मुझे लगता है कि इसके साथ बहुत छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए.’ विराट कोहली ने कहा कि इतना बदलाव बहुत है.

विराट कोहली का यह भी कहना था कि पांच दिन के बजाय चार दिन करने के बाद कल को कुछ लोग तीन दिन के टेस्ट का सुझाव देने लगेंगे. उन्होंने कहा, ‘इसका अंत कहां है? इसके बाद आप कहेंगे कि टेस्ट क्रिकेट गायब हो रहा है. इसलिए मैं इसका जरा भी समर्थन नहीं करता.’