‘सत्ता में आए हमें 13 महीनों का वक्त हो चुका है और मुझे नहीं लगता है कि अब पुरानी सरकार पर दोष डालने का कोई मतलब है.’

— सचिन पायलट, राजस्थान के उपमुख्यमंत्री

सचिन पायलट ने यह बात कोटा के एक सरकारी अस्पताल में 100 से ज्यादा बच्चों की मौत पर कही. इस मुद्दे पर सवालों घिरी कांग्रेस के नेता ने कहा कि मामले में जवाबदेही तय होनी चाहिए. सचिन पायलट का यह बयान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना माना जा रहा है.

‘कट्टरता खतरनाक है और यह बहुत पुराना जहर है जिसकी कोई सीमा नहीं होती.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस नेता

राहुल गांधी ने यह बात पाकिस्तान के ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हुए पथराव के संदर्भ में कही. उन्होंने इसे निंदनीय बताया और कहा कि इस घटना की भर्त्सना की जानी चाहिए. उनकी पार्टी ने पाकिस्तान से ननकाना साहिब की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की है.


‘इस मामले में मैं किसी भी तरह गैरजिम्मेदार होकर कुछ नहीं कहना चाहता.’

— विराट कोहली, भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान

विराट कोहली ने यह बात गुवाहाटी में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान नए नागरिकता कानून के बारे में कही. असम के इस शहर में पिछले महीने इस कानून को लेकर काफी हिंसा हुई थी. विराट कोहली का कहना था कि वे पहले इस मामले की पूरी जानकारी लेंगे और तब ही अपनी राय रखेंगे.