प्रदर्शनकारियों ने चीन के व्यवसायियों से हांगकांग छोड़ने की मांग की | रविवार, 29 दिसंबर 2019

सरकार विरोधी प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों ने शनिवार को एक शॉपिंग मॉल के नजदीक मार्च निकालते हुए मांग की कि चीनी व्यवसायी हांगकांग छोड़ कर चले जाएं. चीन सरकार के खिलाफ हांगकांग में इस तरह के प्रदर्शन जून से चल रहे हैं.

हांगकांग के श्योंग शुई मॉल के पास करीब 100 प्रदर्शनकारियों ने नारे लगाए- ‘हांगकांग छोड़ो’, और ’मुख्यभूमि लौट जाओ’. हांगकांग से लगती चीन की सीमा के पास श्योंग शुई में किया गया यह प्रदर्शन चीन सरकार की आर्थिक गतिविधियों को बाधित करने के प्रयास का हिस्सा था.प्रदर्शनकारियों ने ‘हांगकांग छोड़ो’ के नारे लगाए और मांग की कि चीन के व्यवसायी यहां से चले जाएं. यह प्रदर्शन प्रस्तावित चीनी प्रत्यर्पण कानून के खिलाफ जून में शुरू हुए थे. लेकिन बाद में अब अधिक लोकतंत्र और अन्य मांगें भी शामिल हो गई हैं. प्रस्तावित कानून को चीन सरकार ने वापस ले लिया है, लेकिन अब प्रदर्शनकारी क्षेत्र के नेता कैरी लाम का इस्तीफा एवं अन्य बदलाव चाहते हैं.

पाकिस्तान के मशहूर फिल्मकार ने डॉन के सीईओ पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया | सोमवार, 30 दिसंबर 2019

पाकिस्तान के जाने-माने फिल्मकार जमशेद महमूद रजा ने वहां खलबली मचा दी है. उन्होंने देश के प्रतिष्ठित अखबार डॉन के सीईओ हामिद हारून पर उनका यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है. जमशेद महमूद रजा ने एक ट्वीट के माध्यम से यह आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि यह घटना 13 साल पहले हुई थी. उनका यह भी कहना था उनके आरोपों का अखबार से कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन वे यौन उत्पीड़न के अन्य पीड़ितों को बल देना चाहते हैं.

जमशेद महमूद रजा ने इसी साल अक्टूबर में भी यह बात कही थी. हालांकि तब उन्होंने हामिद हारून का नाम नहीं लिया था बल्कि इतना ही कहा था कि एक मीडिया घराने के मालिक ने 13 साल पहले उनका यौन उत्पीड़न किया था.

इंग्लैंड ने आईसीसी की चार दिनी टेस्ट मैच योजना का समर्थन किया | मंगलवार, 31 दिसंबर 2019

इंग्लैंड ने व्यस्त कार्यक्रम के भार को कम करने के लिए टेस्ट क्रिकेट को पांच की जगह चार दिन का करने की अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की योजना का समर्थन किया है. आईसीसी 2023 से विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में होने वाले मुकाबलों को चार दिवसीय करने पर विचार कर रहा है.

ईसीबी के प्रवक्ता ने ‘डेली टेलीग्राफ’ से कहा, ‘इससे जटिल कार्यक्रम और खिलाड़ियों की व्यस्तताओं की जरूरतों को स्थायी समाधान मुहैया कराया जा सकता है.’ उन्होंने कहा, ‘हम निश्चित तौर पर इस योजना के समर्थक है, लेकिन हम समझते है कि यह खिलाड़ियों, प्रशंसकों और हितधारकों के लिए टेस्ट क्रिकेट की विरासत को चुनौती देने के समान होगा.’

किम जोंग उन ने परमाणु परीक्षणों पर लगी रोक हटाई, कहा - दुनिया अब एक नया हथियार देखेगी | बुधवार, 01 जनवरी 2020

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने अपने परमाणु और अन्तरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षणों पर लगी रोक हटाने का एलान किया है. इससे पहले उत्तर कोरिया अमेरिका के पूरे भूभाग तक मार करने में सक्षम मिसाइलों के परीक्षण और छह परमाणु परीक्षण कर चुका है. अमेरिका के साथ परमाणु कूटनीति पर बातचीत के लंबे दौर के बाद उसने खुद ही ऐसे परीक्षणों पर रोक लगा दी थी. लेकिन इसके दो साल बाद किम जोंग उन ने कहा है कि इस पाबंदी की कोई जरूरत नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि जल्द ही दुनिया एक नया सामरिक हथियार देखेगी.

दोनों देशों के नेताओं के बीच फरवरी में विएतनाम के हनोई में इस मुद्दे पर शिखर वार्ता हुई थी. लेकिन इसके बेनतीजा रहने के बाद से उनमें गतिरोध बना हुआ है. सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए ने किम जोंग उन के हवाले से कहा, ‘हमारे लिए अब एकतरफा प्रतिबद्धता को निभाते रहने का कोई आधार नहीं है.’ उत्तर कोरिया कई महीनों से परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रमों को लेकर उस पर लगे अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों में ढील देने की मांग कर रहा है. उसने अमेरिका को यह राहत सुनिश्चित करने के लिए दिसंबर तक का समय दिया था.

पाकिस्तान ने परमाणु प्रतिष्ठानों की सूची भारत के साथ साझा की | गुरूवार, 02 जनवरी 2020

पाकिस्तान ने साल के पहले दिन एक द्विपक्षीय समझौते के तहत अपने परमाणु प्रतिष्ठानों की सूची को भारत के साथ साझा किया. उसने पाकिस्तान में स्थित भारतीय उच्चायोग के एक अधिकारी को यह सूची दी. ऐसी ही एक सूची भारत ने भी पाकिस्तान को दी है. पाकिस्तान विदेश कार्यालय के मुताबिक भारतीय विदेश मंत्रालय ने दिल्ली में उसके उच्चायोग को इसे दिया है.

पाकिस्तान और भारत के बीच 31 दिसम्बर, 1988 को एक समझौते पर हस्ताक्षर किये गये थे. इस समझौते के अनुच्छेद दो के तहत दोनों देश हर साल एक जनवरी को अपने-अपने परमाणु प्रतिष्ठानों और केंद्रों की सूचना एक-दूसरे के साथ साझा करते हैं. पाकिस्थानी विदेश कार्यालय के अनुसार भारत और पाकिस्तान एक जनवरी, 1992 से लगातार ऐसा कर रहे हैं. और यह 29 वां मौका है जब उन्होंने एक-दूसरे के साथ अपने परमाणु प्रतिष्ठानों की सूचियां साझा की हैं.

ताइवान ने ‘एक देश, दो व्यवस्था’ वाला चीन का फॉर्मूला ठुकराया | शुक्रवार, 03 जनवरी 2020

ताइवान ने चीन के ‘एक देश, दो व्यवस्था’ वाले प्रस्ताव को ठुकरा दिया है. वहां की राष्ट्रपति साई इंग वेन ने कहा है कि उन्हें यह मंजूर नहीं है. चीन ने हाल ही में ताइवान के सामने यह राजनीतिक फॉर्मूला पेश किया था. ताइवान का कहना है कि यह फॉर्मूला हांगकांग में पूरी तरह से नाकाम हो गया है तो ऐसे में इसे स्वीकार करने का कोई सवाल ही नहीं है.

ताइवान में 11 जनवरी को आम चुनाव है. साई इंग वेन फिर से चुनावी मैदान में हैं. नए साल के मौके पर अपने भाषण में उन्होंने दोहराया है कि ताइवान एक संप्रभु देश है और वह चीन के दबाव से मुक्त होकर अपने यहां लोकतंत्र और स्वतंत्रता को कायम रखेगा. ताइवान के चुनाव में चीन का डर सबसे बड़ा मुद्दा है.

अमेरिका से सुलेमानी की मौत का बदला लिया जाएगा : ईरान | शनिवार, 04 जनवरी 2020

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा है कि ईरान और ‘क्षेत्र के आजाद देश’ रेवॉल्यूशनरी गार्ड्स के कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या का अमेरिका से बदला लेंगे. पीटीआई के मुताबिक ईरान सरकार की वेबसाइट पर पोस्ट किए गए एक बयान में उन्होंने कहा, ‘इस बात में कोई शक नहीं है.’ वहीं ईरान में तीन दिन का शोक घोषित करते हुए देश के सर्वोच्च धार्मिक नेता अयातुल्ला अली खमेनई ने कहा कि इस हमले के अपराधियों से गंभीर बदला लेने का इंतज़ार है. ईरान सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा है कि देश की शीर्ष सुरक्षा एजेंसियां इस आपराधिक हमले को लेकर बैठक करेंगी.

इससे पहले अमेरिका के रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने कहा था कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के रेवॉल्यूशनरी गार्ड्स कमांडर कासिम सुलेमानी को मारने का आदेश दिया था. आज बगदाद हवाई अड्डे पर हुए एक रॉकेट हमले में जनरल सुलेमानी सहित आठ लोगों की मौत हो गई. इसके बाद एक बयान में पेंटागन ने कहा, ‘जनरल सुलेमानी सक्रिय रूप से इराक में अमेरिकी राजनयिकों और सैन्यकर्मियों पर हमले की सक्रिय रूप से योजना बना रहा था. वो और उसका कुद्स फोर्स सैकड़ों अमेरिकियों और अन्य गठबंधन सहयोगियों के सदस्यों की मौत और हजारों को जख्मी करने के लिए जिम्मेदार हैं.’

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.