निर्भया मामले के दोषियों की सजा के लिए दिन तय होने की खबर आज सभी अखबारों के पहले पन्ने पर है. दिल्ली की एक अदालत ने उनका डेथ वारंट जारी कर दिया है. चारों दोषियों को 22 जनवरी को सुबह सात बजे फांसी पर लटका दिया जाएगा. इसके अलावा राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए पहला अनुमान जारी किया है. इसके मुताबिक देश की अर्थव्यवस्था में अभी सुस्ती बरकरार रहेगी और जीडीपी की वृद्धि दर घटकर पांच प्रतिशत पर आने का अनुमान है. इस खबर को भी सभी अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की फोन पर बातचीत भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है. दोनों नेताओं ने आपसी संबंधों की समीक्षा की और इन्हें मजबूत करने पर सहमति जताई.

विदेशी राजदूतों को कश्मीर का दौरा करवाया जाएगा

कश्मीर की स्थिति से दुनिया को अवगत कराने के लिए भारत ने 9-10 जनवरी को यूरोपीय संघ, आसियान, दक्षिण अमेरिकी और कुछ अफ्रीकी देशों के राजदूतों को कश्मीर दौरे पर ले जाने का फैसला किया है. दैनिक जागरण के मुताबिक इन विदेशी राजनयिकों को जनता से मिलने और सुरक्षा स्थिति का जायजा लेने का पूरा मौका दिया जाएगा. इससे पहले यूरोपीय सांसदों का एक प्रतिनिधिमंडल भी कश्मीर दौरे पर गया था. हालांकि इस दौरे पर विवाद हो गया था. खबरें आई थीं कि इनमें ज्यादातर दक्षिणपंथी पार्टियों के सांसद थे. बीते साल अगस्त में केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म कर उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया था.

100 रूटों पर 150 निजी ट्रेनों को मंजूरी

एक उच्चाधिकार प्राप्त समिति ने देश में 100 रूटों पर 150 निजी ट्रेनों के लिए हरी झंडी दे दी है. इन रूटों में मुंबई-दिल्ली और दिल्ली-हावड़ा भी शामिल हैं. यानी ये ट्रेनें राजधानी एक्सप्रेस से भी प्रतिस्पर्धा करेंगी. द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक इस समिति का गठन रेल मंंत्री पीयूष गोयल ने किया था. अभी सिर्फ दो तेजस ट्रेनों को ही प्रयोग के तौर पर निजी क्षेत्र को दिया गया है. सरकार का मानना है कि इस कदम से न सिर्फ वेटिंग लिस्ट की समस्या कम होगी बल्कि सेवा की गुणवत्ता में भी काफी सुधार आएगा.

केंद्र सरकार राज्यों को 50 रु प्रति किलो की दर पर प्याज देगी

केंद्र सरकार राज्यों को आयातित कीमत पर प्याज उपलब्ध कराएगी. यह कीमत 50 रु प्रति किलो के आसपास रहेगी. हिंदुस्तान ने यह खबर दी है. बीते कुछ समय से देश में प्याज की कीमतों में आग लगी हुई है. इस पर चौतरफा आक्रोश को देखते हुए सरकार ने करीब 12 हजार टन प्याज का आयात किया है. इसके बाद से कीमतो में कमी होनी शुरू हो गई है.