ईरान ने कहा है कि इराक स्थित दो सैन्य ठिकानों पर उसके मिसाइल हमलों में कम से कम 80 ‘अमेरिकी आतंकी’ मारे गए हैं. ईरान के सरकारी टेलिविजन के मुताबिक इन ठिकानों पर 15 मिसाइलें दागी गई थीं जिनमें से अमेरिका किसी को भी मार गिराने में नाकाम रहा. इरान की संसद ने सोमवार को ही एक प्रस्ताव पारित करते हुए सभी अमेरिकी सैनिकों को आतंकी घोषित कर दिया था. उसने यह कदम देश के एक शीर्ष सैन्य जनरल कासिम सुलेमानी के अमेरिकी हमले में मारे जाने के बाद उठाया था.

ईरान के मुताबिक यह कार्रवाई उसी हमले का जवाब है. उसका यह भी कहना है कि अगर अमेरिका ने अब कोई जवाबी कार्रवाई की तो इलाके में 100 अन्य ऐसे ठिकाने उसके निशाने पर हैं जहां अमेरिकी सैनिक हैं. उधर, अमेरिका ने फिलहाल अब तक ऐसे किसी नुकसान की जानकारी नहीं दी है. उसके मुताबिक अभी तक सब ठीक है और नुकसान का आकलन किया जा रहा है.