महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने गुरुवार को कहा कि उनकी सरकार के पास सीबीआई के विशेष न्यायाधीश बीएच लोया की मौत की जांच दोबारा कराने का विकल्प खुला है.

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने पत्रकारों से कहा, ‘हमारी सरकार के पास जज लोया मौत मामले की दोबारा जांच कराने का विकल्प खुला है. कुछ लोग मामले को दोबारा खोलने की मांग को लेकर मुझसे मिलने वाले हैं.’ जब देशमुख से पूछा गया कि क्या लोया का परिवार उनसे मिलने वाला है, तो उन्होंने कहा कि वह इसका खुलासा नहीं करना चाहते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि सभी चीजों को परखने के बाद अगर जरूरी हुआ तो इस मामले की दोबारा जांच कराई जा सकती है.

गुजरात के चर्चित सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई कर रहे जज लोया की एक दिसंबर 2014 को नागपुर में दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई थी. उस समय वह अपने एक सहयोगी की बेटी की शादी में शामिल होने आए थे. जज लोया की मौत को लेकर आरोप लगते रहे हैं कि उनकी मौत संदिग्ध हालात में हुई और इसकी दोबारा जांच करवानी चाहिए.