‘वामपंथियों और कांग्रेस के दोहरे मानदंड को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.’

— ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने यह बात विपक्ष को झटका देते हए कही. उन्होंने कहा कि वे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा 13 जनवरी को बुलाई गई बैठक का बहिष्कार करेंगी. यह बैठक नए नागरिकता कानून पर कई विश्वविद्यालयों में हिंसा से पैदा हुए हालात पर चर्चा के लिए बुलाई गई है. इसमें वाम दल भी हिस्सा लेंगे. ममता बनर्जी ने यह फैसला बुधवार को भारत बंद के दौरान पश्चिम बंगाल में वामपंथी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं की हिंसा के विरोध में लिया है. 24 घंटे के इस बंद के दौरान पश्चिम बंगाल में हिंसा और आगजनी की कई घटनाएं हुईं.

‘तुमसे न हो पाएगा’  

— संजय सिंह, आप नेता और राज्य सभा सांसद

संजय सिंह की यह टिप्पणी दिल्ली भाजपा के मुखिया मनोज तिवारी पर निशाना साधते हुए आई. दरअसल मनोज तिवारी ने दावा किया था कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आई तो बिजली के मामले में दिल्ली के लोगों को पांच गुना ज्यादा फायदा मिलेगा. संजय सिंह ने कहा कि भाजपा पहले वहीं पर्याप्त बिजली सुनिश्चित कर दे जहां उसकी सरकार है. आप की सत्ता वाले दिल्ली में 200 यूनिट तक बिजली फ्री है.


‘सीएए और एनआरसी पर जनता के गुस्से ने मोदी को असम यात्रा रद्द करने पर मजबूर किया.’ 

— सीताराम येचुरी, सीपीएम नेता

सीताराम येचुरी ने यह बात एक ट्वीट में कही. उन्होंने कहा कि सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ सड़कों पर जनता का गुस्सा इतना ज्यादा और इस सीमा तक उपजा है कि प्रधानमंत्री को दो बार असम दौरा रद्द करना पड़ा. शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गुवाहाटी में ‘खेलो इंडिया’ कार्यक्रम में हिस्सा लेने जाना था, लेकिन उनकी यह यात्रा स्थगित कर दी गई है. इससे पहले बीते दिसंबर में उनकी यहीं पर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ वार्ता होनी थी. लेकिन वह भी रद्द हो गई.