भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के वाइस चांसलर एम जगदीश कुमार पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि जेएनयू के वाइस चांसलर ने जैसा अड़ियल रवैया अपनाया है, उसे देखते हुए उन्हें उनके पद से हटा देना चाहिए.

गुरूवार को मुरली मनोहर जोशी ने एक ट्वीट में लिखा, ‘इस तरह की रिपोर्ट्स हैं कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने दो बार जेएनयू के वाइस चांसलर को फीस वृद्धि के मुद्दे को सुलझाने के लिए एक जायज वर्किंग फार्मूला लागू करने के लिए कहा था. उन्हें (वाइस चांसलर को) छात्रों और अध्यापकों से मिलकर बात करने की सलाह भी दी गई थी. यह हैरान करने वाला है कि वाइस चांसलर ने अड़ियल रवैया अपनाए रखा और सरकार के आदेश को नहीं माना. यह नजरिया निंदनीय है और मेरी राय में ऐसे वाइस चांसलर को पद पर बने रहने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए.’

देश के पूर्व मानव संसाधन विकास मंत्री मुरली मनोहर जोशी का यह बयान ऐसे वक्त में सामने आया है, जब जेएनयू के वीसी जगदीश कुमार लगातार छात्रों और विपक्ष के निशाने पर बने हुए हैं. जेएनयू में लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं, लेकिन अब तक छात्रों से सीधे संवाद के जरिए विवाद सुलझाने की कोशिश नहीं की गई है.

बीते पांच जनवरी को कुछ नकाबपोश लोगों ने जेएनयू कैंपस में घुसकर छात्रावास में रह रहे छात्रों पर हमला किया था. इस हमले में कुछ छात्र गंभीर रूप से जख्मी भी हुए थे.