कानून-व्यवस्था में सुधार की दृष्टि से उत्तर प्रदेश सरकार राज्य के बड़े शहरों में पुलिस आयुक्त प्रणाली लागू करने पर विचार कर रही है. राज्य सरकार पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर राजधानी लखनऊ और गौतमबुद्धनगर (नोएडा) में यह व्यवस्था लागू कर सकती है.

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने कहा, ‘सरकार लखनऊ और नोएडा में आयुक्त प्रणाली लागू करने पर चर्चा कर रही है.’ यह चर्चा इसलिए भी जोर पकड़ रही है क्योंकि लखनऊ और नोएडा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों को हटा दिया गया है, लेकिन अभी तक इन दोनों जिलों में नए पुलिस कप्तानों की तैनाती नहीं की गयी है. अगर इन दो जिलों में पुलिस आयुक्त की तैनाती होती है तो पुलिस महानिरीक्षक स्तर के अधिकारी तैनात किए जाएंगे और उनके अधिकार काफी बढ़ जाएंगे. उनके पास मजिस्ट्रेट की शक्ति भी होगी.

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि देश के 71 बड़े शहरों में पुलिस आयुक्त प्रणाली लागू है और इनमें से कोई भी शहर उत्तर प्रदेश तथा बिहार का नहीं है.