भारतीय ऑटो बाज़ार में तेजी से बढ़ रही कॉम्पैक्ट एसयूवी की मांग को देखते हुए चेक गणराज्य की कार निर्माता कंपनी स्कोडा भी इस सेगमेंट में उतरने का मन बना रही है. ख़बरों के अनुसार वह इस साल फरवरी में होने वाले ऑटो-एक्सपो में अपनी सबकॉम्पैक्ट एसयूवी विज़न-इन को कॉन्सेप्ट के तौर पर पेश कर सकती है. हाल ही में कंपनी ने अपनी इस कार का स्केच भी ज़ारी किया था. ख़बरों के अनुसार स्कोडा विज़न-इन को अगले साल की दूसरी तिमाही में लॉन्च कर सकती है.

यदि लुक्स की बात करें तो स्कोडा विज़न-इन बटरफ्लाइ ग्रिल, चौड़े बोनट और उस पर दी गई मस्क्युलर लाइन्स की मदद से काफी प्रीमियम और दमदार नज़र आती है. इसके अलावा कार के बंपर को रग्ड टच दिया गया है. कार की साइड प्रोफाइल देखने पर आपको व्हील आर्क पर ब्लैक क्लैडिंग नज़र आती है जो दरवाजों से होते हुए पिछले व्हील आर्क तक जाती है. इसके साथ मिलकर चौड़ी रूफ रेल्स कार को स्पोर्टी फील देती है. वहीं विज़न-इन के रियर लुक की बात करें तो कार के स्केच में थ्री-डी इफेक्ट वाले रैपअराउंड एलईडी टेल लैंप दिखते हैं.

स्कोडा विज़न-इन के इंटिरियर का भी स्केच ज़ारी कर चुकी है जिसमें यह कार हाईटेक फीचर्स और बैठने के लिहाज़ से बेहद आरामदायक नज़र आती है. स्कोडा ने अपनी इस पेशकश को अपने विश्वस्तरीय एमक्यूबी ए0 इन प्लेटफॉर्म के भारतीय वर्ज़न मॉड्यूलर मेट्रिक्स पर तैयार किया है. भारत में विज़न-इन इस प्लेटफॉर्म पर बनने वाली कंपनी की पहली कार होगी. अभी तक इस कार के पॉवरट्रेन से जुड़ी ज्यादा जानकारी सामने नहीं आई है, लेकिन संभावना जताई जा रही है कि कंपनी शुरुआत में इस कार पेट्रोल वर्ज़न ही भारत में लॉन्च कर सकती है.

मारुति-सुज़ुकी की नई इलेक्ट्रिक कार

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति-सुज़ुकी की आने वाली पेशकश एक्सएल-5 स्पॉट की गई है. एक्सएल-5 कंपनी की लोकप्रिय हैचबैक वैगन-आर का प्रीमियम वर्ज़न है. यदि एक्सएल-5 की ख़ूबियों की बात करें तो इस कार का इलेक्ट्रिक होना सबसे ज्यादा चर्चाएं बटोर रहा है. कुछ जानकारों का कहना है कि इसी साल फरवरी में होने वाले ऑटो-एक्स्पो में वैगन-आर के जिस इलेक्ट्रिक वर्ज़न को शोकेस किए जाने की संभावना है वह असल में एक्सएल-5 ही है.

एक्सएल-5 के जो स्पाइ शॉट्स सामने आए हैं उनके मुताबिक इस कार के केबिन की डिज़ाइन और ले-आउट काफी हद तक मौजूदा वैगन-आर से ही मिलता-जुलता नज़र आता है. हालांकि कार में दिए गए स्प्लिट हैडलैंप सेटअप, स्लीक ग्रिल, रियर लुक में किए गए बदलाव और कंपनी की प्रीमियम हैचबैक इग्निस से लिए गए 15-इंच के अलॉय व्हील्स इस कार को फ्रेश अपील देते हैं. इसके अलावा कार में क्लाइमेट कंट्रोल एयरकंडिशनर यूनिट और 7.0 इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम जैसे फीचर्स भी नज़र आते हैं.

हालांकि मारुति-सुज़ुकी ने साफ़ किया है कि वह 2020 में कोई भी इलेक्ट्रिक व्हीकल लॉन्च करने नहीं जा रही है. इलेक्ट्रिक कारों के लॉन्च में की जा रही इस देऱ के पीछे जानकार इन कारों की ज्यादा लागत और इलेक्ट्रिक व्हीकल को सपोर्ट करने वाला इन्फ्रास्ट्रक्चर की ग़ैरमौज़ूदगी को वजह मान रहे हैं.

ह्युंडई की एयर टैक्सी

दक्षिण कोरियाई कंपनी ह्युंडई अरबन एयर मॉबिलिटी सॉल्यूशन यानी हवा में उड़ने वाली कार बनाने की दिशा में तेजी से काम कर रही है. इसके लिए उसने दुनियाभर में टैक्सी सर्विस देने वाली कंपनी उबर के साथ साझेदारी की है. ह्युंडई ने इस एयरक्राफ्ट के कॉन्सेप्ट को हाल ही में एस-ए1 नाम के साथ कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स शो-2020 (लास-वेगस) में पेश किया था.

गौरतलब है कि ह्युंडई इस कार को उसी कॉन्सेप्ट पर तैयार कर रही है जिसे कुछ समय पहले नासा ने तैयार किया था. नासा ने अपनी एयर कार का डिज़ाइन सार्वजनिक कर दिया था ताकि वाहन निर्माता कंपनियां उसका इस्तेमाल कर सकें.

ह्युंडई और उबर की साझेदारी में जहां ह्युंडई एयर कारों को तैयार करेगी तो वहीं उबर इन वाहनों को एयरस्पेस सपोर्ट सर्विस, ग्राउंड ट्रासपोर्टेशन से कनेक्शन और एरियर राइड शेयर नेटवर्क के ज़रिए कस्टमर इंटरफेस उपलब्ध करवाएगी. जानकारी के अनुसार चार पैसेंजर क्षमता वाला ये एयरक्राफ्ट एक से दो हजार फीट की ऊंचाई पर 290 किलोमीटर/घंटा की रफ़्तार से उड़ पाने में सक्षम होगा. साथ ही यह पूरी तरह इलेक्ट्रिक होगा जिसे पांच से सात मिनट में पूरी तरह चार्ज किया जा सकेगा. एक बार फुल चार्ज होने पर ये एयरक्राफ्ट 100 किलोमीटर तक की यात्रा कर पाएगा.

रॉयल एनफील्ड की बीएस-6 मानकों वाली क्लासिक 350

दमदार बाइकें बनाने वाली कंपनी रॉयल एनफील्ड ने भारत में अपनी लोकप्रिय बाइक क्लासिक-350 का बीएस-6 मानकों पर खरा उतरने वाला वर्ज़न पेश कर दिया है. कंपनी ने इस नई क्लासिक की एक्सशोरूम कीमत 1 लाख 65 हज़ार रुपए तय की है जो इसके बीएस-4 मॉडल की तुलना में तकरीबन 11,000 रुपए ज्यादा है. रॉयल एनफील्ड ने अपनी इस पेशकश को दो रंगों- स्टील्थ ब्लैक और क्रोम ब्लैक में तैयार किया है.

रॉयल एनफील्ड का कहना है कि उसने क्लासिक 350 के नए इंजन को इस तरह ट्यून किया गया है कि वह अब ज़्यादा रिफाइंड होने के साथ बेहतर पॉवर देता है. 346 सीसी का यह सिंगल-सिलेंडर, 4-स्ट्रोक एयर-कूल्ड इंजन 19.8 बीएचपी पावर के साथ 28 एनएम पीक टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. कंपनी ने इस इंजन को 5-स्पीड गियरबॉक्स से लैस किया है.

रॉयल एनफील्ड ने नई क्लासिक 350 में इंजन के अलावा ज्यादा बदलाव नहीं किए हैं. जानकारी के अनुसार ऐसा इसलिए किया गया है कि रॉयल एनफील्ड इस समय बिल्कुल नई क्लासिक 350 के उत्पादन में जुटी है जिसे कई बड़े बदलावों के साथ पेश किया जाएगा. अभी उसने क्लासिक का नया वर्ज़न सिर्फ़ इसलिए पेश किया है ताकि अप्रैल-2020 तक बीएस-6 मानकों पर खरे उतरने के भारत सरकार के निर्देशों का पालन हो सके.

बीते कई सालों से विंटेज बाइक सेगमेंट में रॉयल एनफील्ड का एकतरफ़ा राज रहने के बाद वह दौर आ चुका है जब कहा जा सकता है कि बाज़ार में क्लासिक 350 को मुकाबला देने के लिए जावा जावा और बेनेली इंपेरियल जैसी बाइकें मौजूद हैं.