अमेरिका में बीते 24 घंटे में गोलीबारी की आठ घटनाओं में पांच लोगों की मौत हो गई और सात अन्य घायल हो गए. पीटीआई के मुताबिक ये सभी घटनाएं बाल्टीमोर शहर में हुईं. शहर की परिषद के अध्यक्ष ब्रैंडन स्कॉट ने हिंसा की निंदा करते हुए कहा, ‘यह हिंसा दुखदायी है और ऐसी घटनाएं अब नहीं होनी चाहिए.’ अमेरिका में गोलीबारी की घटनाएं नियमित रूप से सुर्खियां बनती रहती हैं. इससे पहले नए साल के मौके पर फ्लोरिडा के एक क्लब में हुई गोलीबारी से दो लोगों की मौत हो गई थी. उसी दिन ओमाहा में हुई ऐसी एक घटना में भी दो लोग मारे गए थे.

नाइजर में आतंकी हमले में मरने वालों का आंकड़ा 89 हुआ

अफ्रीकी देश नाइजर में सेना के एक शिविर पर तीन दिन पहले हुए जिहादी हमले में मारे जाने वाले सैनिकों की संख्या बढ़कर 89 हो गई है. सरकार ने रविवार को इसकी जानकारी दी. उसके प्रवक्ता जकारिया अब्दुर्रहमान ने कहा, ‘पूरी तलाशी के बाद मित्र पक्ष के 89 और दुश्मन पक्ष के 77 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है.’ घटना के बाद देश में तीन दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है. पश्चिमी नाइजर में एक सैन्य शिविर पर बृहस्पतिवार को हथियारों से लैस हमलावरों ने हमला कर दिया था. तब 25 सैनिकों के मारे जाने की बात कही गई थी.

स्वदेश लौटने से पहले अमेरिका में भारतीय राजदूत ने डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की

अमेरिका में भारत के मौजूदा राजदूत हर्षवर्धन श्रृंगला ने स्वदेश लौटने से पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से ओवल हाउस में मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने भारत और अमेरिका के संबंधों को मजबूत करने के लिए राष्ट्रपति का शुक्रिया अदा किया. पीटीआई के मुताबिक ऐसा संभवत: पहली बार है जब अमेरिकी राष्ट्रपति ने निवर्तमान भारतीय राजदूत से मुलाकात की. विशेषज्ञों के मुताबिक यह इस बात को दर्शाता है कि डोनाल्ड ट्रंप भारत-अमेरिका के संबंधों को कितना महत्व देते हैं. हर्षवर्धन श्रृंगला भारत के 33वें विदेश सचिव के तौर पर नयी जिम्मेदारी संभालने के लिए रविवार को वाशिंगटन से रवाना हो गए. वे 29 जनवरी को अपना कार्यभार संभालेंगे. हर्षवर्धन श्रृंगला विदेश सेवा के 1984 बैच के अधिकारी हैं. उन्होंने करीब एक साल तक अमेरिका में भारतीय राजदूत की जिम्मेदारी निभाई.

ज्वालामुखी से राख और धुंआ निकलने के बाद फिलीपींस में अलर्ट

फिलीपींस की राजधानी मनीला के नजदीक सोमवार को एक ज्वालामुखी से राख और धुंआ निकलने के कारण अलर्ट घोषित किया गया है. इसके कारण अब तक करीब 250 उड़ानें प्रभावित हुई हैं. भूकंप के झटकों और गर्जन की आवाज के मद्देनजर कई इलाकों को खाली कराया जा रहा है. माना जा रहा है कि ज्वालामुखी अब कभी भी फट सकता है.