प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छत्रपति शिवाजी महाराज से तुलना करने वाली एक किताब पर विवाद छिड़ गया है. शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा है कि इस मराठा योद्धा के वंशजों को यह स्पष्ट करना चाहिए कि उन्हें शिवाजी की तुलना नरेंद्र मोदी से किया जाना पसंद है या नहीं. पीटीआई के मुताबिक संजय राउत भाजपा से यह घोषणा करने की मांग भी की कि उसका छत्रपति शिवाजी की तुलना मोदी से करने वाली किताब से कोई लेना-देना नहीं है.

‘आज का शिवाजी: नरेंद्र मोदी’ शीर्षक वाली किताब भाजपा नेता जय भगवान गोयल ने लिखी है. राज्य की महाराष्ट्र विकास अघाड़ी सरकार ने इसकी निंदा की है. संजय राउत ने भाजपा के राज्यसभा सदस्य और शिवाजी के वंशज संभाजी राजे पर निशाना साधते हुए कहा, ‘इस किताब को लेकर छत्रपति शिवाजी के वंशजों को भाजपा से इस्तीफा दे देना चाहिए.’ संभाजी राजे ने भाजपा प्रमुख अमित शाह से रविवार को मांग की थी कि वे भाजपा के दिल्ली कार्यालय से प्रकाशित इस किताब पर तत्काल प्रतिबंध लगाएं. महाराष्ट्र के कांग्रेस प्रवक्ता अतुल लोंढे ने किताब में नरेंद्र मोदी की तुलना छत्रपति शिवाजी से करके लोगों की भावनाओं को कथित तौर पर ठेस पहुंचाने के आरोप में जय भगवान गोयल के खिलाफ नागपुर में शिकायत भी दर्ज करवाई है.

की शिकायत करते हुए