भाजपा नेताओं के विवादित बयानों का सिलसिला जारी है. ताजा बयान उत्तर प्रदेश के श्रम मंत्रालय में राज्य मंत्री रघुराज सिंह ने दिया है. खबरों के मुताबिक उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ नारे लगाने वालों को ‘जिंदा दफन’ कर दिया जाएगा. रघुराज सिंह अलीगढ़ में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में एक रैली को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा, ‘अगर आप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ नारेबाजी करते हैं तो मैं आपको जिंदा दफन कर दूंगा.’ माना जा रहा है कि उनका इशारा अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों के सीएए के विरोध में किए गए प्रदर्शनों की तरफ था. छात्रों ने इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी के खिलाफ नारेबाजी की थी.

रघुराज सिंह का आगे कहना था, ‘ये केवल एक फीसदी लोग नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर रहे हैं. ये लोग भारत में रहते हैं और हमारे टैक्स का खाते हैं और फिर नेताओं के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाते हैं. यह सभी धर्मों को मानने वालों का देश है, लेकिन प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी स्वीकार नहीं है.’ रघुराज सिंह ने भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू पर भी निशाना साधा. उनका कहना था, ‘नेहरू की जाति क्या थी? उनका कोई खानदान नहीं था.’

इससे पहले पश्चिम बंगाल की भाजपा इकाई की मुखिया दिलीप घोष ने भी कुछ इसी तरह का बयान दिया था. उनका कहना था कि जो भी सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाता है उसे भाजपा शासित राज्यों की तरह गोली मार देनी चाहिए. दिलीप घोष ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की आलोचना करते हुए कहा था कि नागरिकता कानून का विरोध करते हुए तोड़फोड़ करने वालों पर गोली चलाने और लाठीचार्ज करने का आदेश देना चाहिए था.