खुदरा महंगाई की दर दिसंबर, 2019 में जोरदार तेजी के साथ 7.35 प्रतिशत के स्तर पर पहुंच गई है. छह फीसद का आंकड़ा पार करने के साथ खुदरा महंगाई भारतीय रिजर्व बैंक के संतोषजनक स्तर को पार कर गई है.

सोमवार को जारी सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, दिसंबर, 2019 में खुदरा महंगाई तेजी से बढ़कर 7.35 प्रतिशत पर पहुंच गई है. जबकि खुदरा महंगाई नवंबर, 2019 में 5.54 प्रतिशत और दिसंबर, 2018 में 2.11 प्रतिशत के स्तर पर थी. खुदरा महंगाई में इस तेजी की मुख्य वजह खाद्य वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि मानी जा रही है. आंकड़ों के अनुसार दिसंबर, 2019 में खाद्य वस्तुओं की महंगाई बढ़कर 14.12 प्रतिशत पर पहुंच गई. जबकि दिसंबर, 2018 में यह शून्य से 2.65 प्रतिशत नीचे थी और नवंबर, 2019 में यह 10.01 प्रतिशत पर थी.

रिजर्व बैंक अपनी मौद्रिक नीति में महंगाई को चार प्रतिशत (दो प्रतिशत ऊपर या नीचे) के दायरे में रखने का लक्ष्य रखता है. फिलहाल महंगाई का जो स्तर है वह आरबीआई के पैमाने को पार कर गया है. पिछली बार ही आरबीआई ने मौद्रिक समिति की बैठक में बढ़ती हुई महंगाई को देखते हुए ब्याज दरें नहीं घटाई थीं.