नीतीश कुमार का बड़ा बयान, कहा - नए नागरिकता कानून पर चर्चा के लिए तैयार, एनआरसी का बिहार में कोई औचित्य नहीं

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि वे नागरिकता संशोधन कानून पर चर्चा के लिए तैयार हैं. ये पहली बार है जब उन्होंने संसद द्वारा पारित इस कानून पर अपने रुख में पुनर्विचार का संकेत दिया है. नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने संसद में इसके पक्ष में वोट किया था. उधर, राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर यानी एनआरसी के बारे में उन्होंने कहा कि बिहार में इसे लागू करने का कोई औचित्य नहीं है. नीतीश कुमार का ये बयान बिहार विधानसभा में कांग्रेस और आरजेडी के इस कानून पर हमले के बाद आया है.

नए नागरिकता कानून को लेकर ये पहली बार है जब एनडीए के किसी घटक दल के मुखिया ने इस तरह की बात कही है. इससे पहले संसद में इसके पारित होने के बाद पार्टी उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने निराशा जाहिर की थी. बीते महीने जब कांग्रेस ने इसके विरोध में दिल्ली में सत्याग्रह किया तो उन्होंने इसके लिए राहुल गांधी को बधाई भी दी थी.

नए नागरिकता कानून पर विपक्षी दलों की बैठक, शिवसेना, टीएमसी और बीएसपी सहित कई पार्टियां गायब रहीं

नागरिकता कानून और एनआरसी के विरोध से पैदा हुए हालात पर चर्चा के लिए आज विपक्षी दलों की एक बैठक हुई. इसमें 20 पार्टियां शामिल हुईं. ये बैठक कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बुलाई थी. उन्होंने इस कानून को भेदभावपूर्ण और विभाजनकारी करार दिया है. हालांकि शिवसेना, तृणमूल कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी जैसे दलों ने इस बैठक से खुद को दूर रखा. नए नागरिकता कानून में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से भारत आने वाले गैरमुस्लिमों को आसानी से नागरिकता देने का प्रावधान है. लेकिन इसका देश के कई हिस्सों में तीखा विरोध हो रहा है. उधर, सरकार ने साफ कहा है कि वो इस कानून से कदम पीछे नहीं खींचेगी.

दिल्ली हाईकोर्ट ने जेएनयू हिंसा से जुड़े सीसीटीवी फुटेज को लेकर दिल्ली पुलिस, व्हाट्सऐप और गूगल से जवाब मांगा

दिल्ली हाईकोर्ट ने जेएनयू हिंसा से जुड़े सीसीटीवी फुटेज को लेकर दिल्ली पुलिस, राज्य सरकार, व्हाट्सऐप, एपल और गूगल से जवाब मांगा है. विश्वविद्यालय के तीन प्रोफेसरों ने अदालत में एक याचिका दायर की है. इसमें घटना से जुड़े डेटा और अन्य सबूत सुरक्षित रखने की मांग की गई है. हाई कोर्ट इसी याचिका पर सुनवाई कर रहा है. उधर, पुलिस ने अदालत को बताया कि उसने जेएनयू प्रशासन से हिंसा की सीसीटीवी फुटेज संभाल कर रखने और उसे सौंपने को कहा है. मामले की अगली सुनवाई मंगलवार को होगी. पांच जनवरी को जेएनयू में कई नकाबपोशों ने छात्रों और शिक्षकों के साथ मारपीट की थी. इसमें 30 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे.

वॉलमार्ट का बड़ा फैसला, कंपनी भारत में अपना रीटेल स्टोर बिजनेस बंद करेगी

अमेरिकी रीटेल दिग्गज वॉलमार्ट ने भारत में अपना रीटेल स्टोर बिजनेस बंद करने का फैसला किया है. माना जा रहा है कि कंपनी ऑफलाइन रीटेल ऑपरेशंस को बेच सकती है, या फिर इसका विलय अपने ई कॉमर्स प्लेटफॉर्म फ्लिपकार्ट के साथ कर सकती है. वॉलमार्ट ने बड़े पैमाने पर छंटनी भी शुरू कर दी है. दुनिया की सबसे बड़ी इस रीटेल कंपनी ने करीब एक दशक पहले भारत में कारोबार की शुरूआत की थी. लेकिन उसे काफी संघर्ष करना पड़ा. नए घटनाक्रम पर कंपनी का कहना है कि ये कवायद समय-समय पर कॉरपोरेट ढांचे में किए जाने वाले बदलाव का हिस्सा है.

डोनाल्ड ट्रंप की ईरान को चेतावनी, कहा - प्रदर्शनकारियों को मारना बंद किया जाए

अमेरिका और ईरान के बीच तनातनी जारी है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान सरकार को चेतावनी दी है कि वो प्रदर्शनकारियों को मारना बंद करे. एक ट्वीट में उनका ये भी कहना था कि अमेरिका हालात पर नजर रखे हुए है. ईरान में एक बड़े विमान हादसे के बाद बड़े पैमाने पर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं. यूक्रेन के इस विमान को ईरान की ही एक मिसाइल जा लगी थी. इस हादसे में 176 लोग मारे गए थे. इसके कुछ दिन पहले अमेरिका ने ईरान के शीर्ष सैन्य जनरल कासिम सुलेमानी को एक रॉकेट हमले में मार गिराया था. इसके बाद पलटवार करते हुए ईरान ने इराक में दो सैन्य अड्डों पर मिसाइल हमले किए थे. इसी दौरान एक मिसाइल यूक्रेन के विमान से जा टकराई थी.