सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया मामले के दो दोषियों की क्यूरेटिव पिटीशन खारिज की, 22 जनवरी को फांसी तय

सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया मामले के दो दोषियों की सुधारात्मक याचिका यानी क्यूरेटिव पिटीशन खारिज कर दी है. ये याचिका विनय शर्मा और मुकेश कुमार ने लगाई थी. जस्टिस एनवी रमन्ना की अगुवाई वाली एक पीठ ने कहा कि सजा पर पुनर्विचार की दोषियों की अपील निराधार है. दिल्ली की एक अदालत इस मामले के चारों दोषियों का डेथ वारंट जारी कर चुकी है. इसके मुताबिक उन्हें 22 जनवरी की सुबह सात बजे तिहाड़ जेल में फांसी दी जानी है.

ये मामला 2012 का है जब दिल्ली में एक चलती बस में छह लोगों ने 23 साल की निर्भया के साथ सामूहिक बलात्कार किया था. बर्बरता के बाद उसे सड़क पर फेंक दिया गया. कई दिनों तक जिंदगी की जंग लड़ने के बाद निर्भया ने सिंगापुर के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया था. इस घटना के बाद पूरे देश में विरोध प्रदर्शन हुए थे.

नए नागरिकता कानून के खिलाफ केरल सुप्रीम कोर्ट पहुंचा, इसे संविधान के खिलाफ बताया

केरल सरकार ने नए नागरिकता कानून को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है. ऐसा करने वाला केरल देश का पहला राज्य बन गया है. राज्य सरकार ने अपनी याचिका में कहा है कि ये कानून संविधान के खिलाफ है जिसने सबको समानता का अधिकार दिया है. केरल विधानसभा ने हाल में इस कानून के खिलाफ एक प्रस्ताव भी पारित किया था. नए नागरिकता कानून के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में पहले ही 60 याचिकाएं दायर की जा चुकी हैं. इस कानून में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से भारत आने वाले गैर मुस्लिमों को आसानी से नागरिकता देने का प्रावधान है. लेकिन इसका तीखा विरोध हो रहा है. विपक्ष इसे भारत की आत्मा पर हमला बता रहा है. उधर, सरकार का कहना है कि अब कदम पीछे खींचने का कोई सवाल ही नहीं है.

नागरिकता कानून पर सत्या नडेला का भी बड़ा बयान, कहा - ये दुखद और बुरा

नए नागरिकता कानून को लेकर चौतरफा विरोध-प्रदर्शन पर माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला की भी टिप्पणी आई है. उन्होंने इसे दुखद और बुरा बताया है. सत्या नडेला किसी भी तकनीकी कंपनी के पहले मुखिया हैं जिन्होंने इस कानून की आलोचना की है. उन्होंने ये भी कहा कि उन्हें ये देखना अच्छा लगेगा कि कोई बांग्लादेशी प्रवासी भारत आकर इंफोसिस का अगला सीईओ बने. सत्या नडेला हैदराबाद में पले-बढ़े हैं. उनका कहना था कि कि उन्हें उस साझी सांस्कृतिक विरासत पर गर्व है जो उन्हें भारत से मिली है.

कश्मीर में हिमस्खलन की दो घटनाओं में तीन सैनिकों सहित आठ लोगों की मौत

जम्मू कश्मीर में हिमस्खलन की दो अलग-अलग घटनाओं में सेना के तीन जवानों सहित आठ लोगों की मौत हो गई. पहली घटना कुपवाड़ा जिले में नियंत्रण रेखा के पास हुई. यहां माछिल सेक्टर में सेना की एक चौकी हिमस्खलन की चपेट में आ गयी. इस हादसे में तीन सैनिकों की मौत हो गई. एक सैनिक लापता है जबकि एक घायल सैनिक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. दूसरी घटना गांदरबल में हुई. यहां एक गांव में हिमस्खलन में पांच लोगों की मौत हो गई. सर्दियों में भारी बर्फबारी के चलते कश्मीर के कई इलाकों में ऐसी घटनाओं का अंदेशा बना रहता है. बीते दिसंबर में ही कुपवाड़ा जिले में सेना की एक चौकी हिमस्खलन की चपेट में आ गयी थी. इस हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई थी.

ईरान में यूक्रेन का यात्री विमान मार गिराए जाने के मामले में पहली गिरफ्तारी

ईरान में यूक्रेन के एक विमान को मार गिराए जाने के मामले में पहली गिरफ्तारी हुई है. यूक्रेन के विमान को बीते बुधवार को उड़ान भरने के तुरंत बाद मिसाइल से मार गिराया गया था. विमान में सवार सभी 176 लोग मारे गए थे. इस दुर्घटना को लेकर पिछले तीन दिनों से लगातार सरकार के खिलाफ प्रदर्शन चल रहे हैं. ईरान ने कई दिनों तक पश्चिमी देशों के इन दावों को खारिज किया कि विमान को उसकी ही मिसाइल जा लगी थी. लेकिन आखिरकार उसने यह बात मान ली. उसने इसे मानवीय भूल बताया. राष्ट्रपति हसन रूहानी ने ये भी कहा कि इस घटना के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा मिलेगी.