भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को बीसीसीआई के केंद्रीय अनुबंधित खिलाड़ियों की सूची से बाहर कर दिया गया है. इसके बाद से धोनी के भविष्य को लेकर एक बार फिर अटकलें तेज हो गई हैं. गुरूवार को बीसीसीआई ने अक्टूबर 2019 से सितंबर 2020 तक के लिये केंद्रीय अनुबंधित खिलाड़ियों के नाम का ऐलान किया. धोनी पिछले साल तक ए-ग्रेड खिलाड़ियों की सूची में शामिल थे और उन्हें सालाना पांच करोड़ रूपये मिलते थे.

अनुबंधों की नयी सूची में कप्तान विराट कोहली, उपकप्तान रोहित शर्मा और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह पहले की तरह ही ए-प्लस ग्रेड में बने हुए हैं. इन तीनों को सात करोड़ रूपये प्रतिवर्ष मिलते हैं .

महेंद्र सिंह धोनी बीते साल इंग्लैंड में खेले गए वनडे विश्वकप के बाद से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर हैं. उन्होंने अपनी भविष्य की योजनाओं पर चुप्पी साध रखी है. इस बारे में बीते दिसंबर में उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा था, ‘जनवरी 2020 तक मुझसे कुछ भी मत पूछो.’ हालांकि, इसके बाद धोनी की वापसी की संभावनाएं तब तेज हो गई थीं, जब उन्हें झारखंड की अंडर-23 टीम के साथ रांची में अभ्यास करते हुए देखा गया था.

बीते महीने भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री भी महेंद्र सिंह धोनी को लेकर सीधा जवाब देने से बचते दिखे थे. उन्होंने ‘इंडिया टुडे’ चैनल को दिए एक साक्षात्कार में धोनी के भविष्य के बारे में कहा था, ‘धोनी महान खिलाड़ी है. मुझे पता है कि वह खुद को कभी भारतीय टीम पर नहीं थोपेंगे. वह ब्रेक लेना चाहते हैं लेकिन वह आईपीएल खेलने जा रहे हैं.’