नए साल की शुरुआत में ही भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने एक और उपलब्धि अपने नाम कर ली है. उसने संचार उपग्रह (सैटेलाइट) जीसैट 30 को सफलतापूर्वक लॉन्च कर दिया है. इस सेटेलाइट को दक्षिण अमेरिका के फ्रेंच गुयाना से अंतरिक्ष में भेजा गया. इसरो के मुताबिक जीसैट-30 इनसैट-4ए की जगह लेगा और अंतरिक्ष में 15 साल तक काम करेगा.

पीटीआई के मुताबिक जीसैट 30 उच्च गुणवत्ता वाली टेलीविजन, दूरसंचार और प्रसारण सेवाएं मुहैया कराएगा. यह सैटेलाइट देश की संचार व्यवस्था को और मजबूत करेगा. इसकी मदद से इंटरनेट के साथ-साथ मोबाइल नेटवर्क और डीटीएच सेवाओं का भी विस्तार होगा.

देश में संचार व्यवस्था तेजी से बढ़ रही है. 5जी तकनीक के साथ मोबाइल और डीटीएच नेटवर्क का भी विस्तार हो रहा है. इसरो के मुताबिक संचार व्यवस्था को बेहतर करने के लिए पहले से ज्यादा ताकतवर सैटेलाइट की जरूरत थी. बताया जा रहा है कि जीसैट-30 देश की इस जरूरत को पूरा करने में सक्षम है.