नेताजी सुभाष चंद्र बोस के पौत्र एवं पश्चिम बंगाल भाजपा के उपाध्यक्ष चंद्र कुमार बोस ने सोमवार को कहा कि नागरिकता के मुद्दे पर सत्ता और विपक्ष दोनों ही द्वारा ‘भय का माहौल’ उत्पन्न किया जा रहा है. उन्होंने केंद्र सरकार से यह भी आग्रह किया कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के तहत मुस्लिमों को भी नागरिकता दी जाए.

चंद्र कुमार बोस ने पीटीआई से कहा, ‘केवल इस वजह से कि कानून संसद ने पारित किया है, इसका इस्तेमाल प्रदर्शनों की अनदेखी कर लोगों को डराने के लिए नहीं किया जा सकता. यही बात विपक्षी दलों पर भी लागू है जो जानबूझकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं.’ बोस ने कहा, ‘इससे निपटने के लिए, मेरा मानना है कि नए कानून में यह उपबंध शामिल किया जाना चाहिए कि सीएए धर्म आधारित नहीं है...और मुसलमानों को भी इसमें शामिल किया जाना चाहिए,’ उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को मुद्दे पर एक लिखित स्पष्टीकरण जारी करना चाहिए.

भाजपा के राज्य स्तर के नेताओं ने सुभाष चंद्र बोस के पौत्र चंद्र बोस के बयान पर कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. बोस ने पूर्व में भी सीएए में मुसलमानों को शामिल किए जाने की पैरवी की थी.