गृहमंत्री अमित शाह ने नए नागरिकता कानून को लेकर विपक्षी दलों पर तीखा हमला किया है. कल लखनऊ में इस कानून को लेकर आयोजित एक जागरूकता रैली में उन्होंने कहा कि चाहे जितना विरोध हो, यह कानून वापस नहीं होगा. इस खबर को आज ज्यादातर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. अमित शाह ने विपक्ष को अपने साथ कहीं भी और कभी भी इस कानून को लेकर बहस की चुनौती भी दी. इसके अलावा पेरियार पर अपनी एक टिप्पणी को लेकर सुपरस्टार रजनीकांत ने माफी मांगने से इनकार कर दिया है. कई अखबारों ने इसे भी प्रमुख सुर्खियों में शामिल किया है. रजनीकांत ने कहा कि उनकी टिप्पणी तथ्यों पर आधारित थी.

झारखंड में पत्थलगड़ी का विरोध करने पर सात ग्रामीणों की हत्या

झारखंड में पत्थलगड़ी समर्थकों ने पत्थलगड़ी का विरोध करने वाले सात ग्रामीणों की हत्या कर दी है. दैनिक जागरण के मुताबिक यह पश्चिमी सिंहभूम के एक गांव की घटना है. गांव के दो अन्य लोग गायब हैं और उनकी भी हत्या की आशंका है. पुलिस के मुताबिक पत्थलगड़ी समर्थकों द्वारा रविवार को ग्रामीणों के साथ एक बैठक आयोजित की गई थी. इस दौरान इन समर्थकों का हुजूम पत्थलगड़ी का विरोध करने वालों को पीटने लगा. इसके बाद उनकी हत्या कर उनके शव जंगल में फेंक दिए गए. आदिवासी इलाकों में पत्थलगड़ी की सामाजिक और सांस्कृतिक परंपरा है. इसमें समाज के महत्वपूर्ण फैसले को लोगों तक पहुंचाने के लिए धरती में पत्थर गाड़ा जाता है.

जम्मू-कश्मीर : मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए, दो सैनिक भी शहीद

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में मंगलवार को सुरक्षा बलों के बीच हुई मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए. दैनिक भास्कर के मुताबिक इस दौरान एक विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) सहित दो जवान भी शहीद हो गए. पुलवामा के त्राल शहर के जांड गांव में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी. इसके बाद घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया गया. इसी दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी की जिस पर सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की. यह पिछले दो दिनों में कश्मीर में दूसरी बड़ी मुठभेड़ है. सोमवार को शोपियां जिले में मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर वसीम सहित तीन आतंकी मारे गए थे.

डोनाल्ड ट्रंप ने फिर कश्मीर को लेकर भारत-पाकिस्तान की मदद की बात कही

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की बात कही है. द टेलीग्राफ के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘यदि हम मदद कर सके तो निश्चित रूप से मदद करेंगे. हम नज़र बनाए हुए हैं.’ डोनाल्ड ट्रंप ने यह बात दावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फ़ोरम के दौरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ मुलाकात के दौरान कही. उधर, इमरान खान के मुताबिक पाकिस्तान को हमेशा यह उम्मीद रही है कि अमेरिका कश्मीर मामले को सुलझाने में अपनी भूमिका अदा करेगा. भारत बार-बार अमेरिका की इस तरह की पेशकश को खारिज करता रहा है. उसका कहना है कि यह उसका आंतरिक मामला है.