बलात्कार के आरोपित नित्यानंद पर शिकंजा कसा, इंटरपोल ने उसके खिलाफ ब्लू कॉर्नर नोटिस जारी किया

बलात्कार और अपहरण के आरोपित नित्यानंद के खिलाफ शिकंजा कसता जा रहा है. इंटरपोल ने उसके खिलाफ ब्लू कॉर्नर नोटिस जारी किया है. ये कार्रवाई गुजरात पुलिस के अनुरोध पर की गई है. इसका मकसद बीते साल भारत छोड़कर भागे नित्यानंद तक पहुंचना है. भारत सरकार उसका पासपोर्ट रद्द कर चुकी है. उसने अपने सभी दूतावासों को नित्यानंद की आवाजाही को लेकर सतर्क रहने को भी कहा है. कुछ समय पहले नित्यानंद का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. इसमें उसका कहना था कि उसे न कोई छू सकता है, और न ही कोई अदालत उस पर मुकदमा चला सकती है. नित्यानंद ने लैटिन अमेरिका में एक द्वीप खरीदकर उसे एक संप्रभु हिंदू राष्ट्र घोषित कर दिया है. इसका नाम उसने ‘कैलासा’ रखा है.

सीएए पर अंतरिम रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, मामला संविधान पीठ को सौंपा

सियासी तूफान का सबब बने नए नागरिकता कानून यानी सीएए पर अंतरिम रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट ने इनकार कर दिया है. उसने कहा है कि मामले की सुनवाई अब पांच सदस्यीय संविधान पीठ करेगी. शीर्ष अदालत का ये भी कहना है कि सीएए को लेकर असम और त्रिपुरा का मामला अलग से सुना जाएगा. अदालत ने इस मुद्दे पर सरकार को जवाब देने के लिए चार हफ्ते का समय दिया है.

सीएए के खिलाफ शीर्ष अदालत में कुल 143 याचिकाएं दायर की गई हैं. इनमें केरल सरकार की याचिका भी शामिल है. इसमें इस कानून को असंवैधानिक घोषित करने की मांग की गई है. सीएए में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आने वाले गैरमुस्लिमों को भारत की नागरिकता देने का प्रावधान है. लेकिन इसका तीखा विरोध हो रहा है. केरल और पंजाब जैसे राज्य सीएए के खिलाफ प्रस्ताव पारित कर चुके हैं. उधर, केंद्र सरकार का कहना है कि राज्यों को ऐसा करने का अधिकार नहीं है.

प्रशांत किशोर का अमित शाह पर निशाना, कहा -नागरिकों की असहमति खारिज करना किसी भी सरकार की ताकत का संकेत नहीं

सीएए को लेकर मोदी सरकार पर अब उसके सहयोगी भी निशाना साधने लगे हैं. जेडीयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने कहा है कि नागरिकों की असहमति खारिज करना किसी भी सरकार की ताकत का संकेत नहीं है. इससे एक दिन पहले गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि जिसको विरोध करना है करे, लेकिन सीएए वापस नहीं होगा. प्रशांत किशोर ने कहा कि अगर विरोध की परवाह नहीं है तो अमित शाह क्रोनोलॉजी के तहत सीएए और एनआरसी पर आगे क्यों नहीं बढ़ रहे. इससे पहले सीएए के मुद्दे पर दिल्ली में भाजपा और शिरोमणि अकाली दल का दो दशक पुराना गठबंधन टूट गया था. अकाली दल का कहना था कि इस कानून को लेकर उसकी राय भाजपा से मेल नहीं खाती.

सऊदी अरब ने जेफ बेजोस के फोन की हैकिंग करवाने का आरोप खारिज किया

सऊदी अरब ने एमेजॉन के मुखिया जेफ बेजोस का फोन हैक करवाने के आरोपों को खारिज किया है. उसने इन्हें बेतुका बताते हुए इस मामले की जांच की मांग भी की है. कहा जा रहा है कि जेफ बेजोस का फोन सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान के फोन से भेजे गए एक वीडियो के जरिये हैक किया गया. जेफ बेजोस मशहूर अमेरिकी अखबार द वाशिंगटन पोस्ट के भी मालिक हैं. इस अखबार में सऊदी सरकार के तीखे आलोचक जमाल खशोगी के लेख छपते थे. खशोगी की 2018 में हत्या कर दी गई थी. उन्हें आखिरी बार तुर्की में सऊदी दूतावास में दाखिल होते हुए देखा गया था. बाद में सऊदी सरकार ने उनकी हत्या की बात मान ली थी.

बुर्कीना फासो में बड़ा आतंकी हमला, 36 लोगों की मौत

अफ्रीकी देश बुर्कीना फासो में हुए एक आतंकी हमले में 36 लोगों की मौत हो गई है. ये हमला देश के उत्तर में स्थित एक गांव के बाजार में हुआ. हमले में कई लोग घायल भी हुए हैं. बीते दो महीनों के दौरान बुर्कीना फासो में हुए ऐसे हमलों में 100 से भी ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है. इन हमलों के मद्देनजर सरकार ने लोगों से सुरक्षा बलों के साथ सहयोग करने की अपील की है. बुर्कीना फासो की संसद ने मंगलवार को एक कानून भी पारित किया. इसमें जिहादियों के खिलाफ लड़ाई में स्थानीय लोगों की भर्ती करने की अनुमति दी गई है. इन लोगों को हल्के हथियार मुहैया कराए जाएंगे. ताजा हमले की जिम्मेदारी अभी किसी ने नहीं ली है, लेकिन इसका शक अल-कायदा और इस्लामिक स्टेट से जुड़े समूहों पर है.

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.