चीन में फैल रहे कोरोना वायरस की चपेट में एक भारतीय नर्स आ गई है. इसकी जानकारी गुरुवार को विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने एक ट्वीट कर के दी है. उन्होंने बताया है कि सऊदी अरब के अल-हयात अस्पताल में काम करने वालीं करीब 100 भारतीय नर्सों की जांच की गई थी जिनमें से एक नर्स कोरोना वायरस से पीड़ित पायी गयी. वायरस की चपेट में आने वाली नर्स का इलाज असीर नेशनल अस्पताल में चल रहा है और दिन पर दिन वह पहले से ठीक होती जा रही है.

कोरोना वायरस सबसे पहले चीन में सामने आया. चीन में इसकी चपेट में आने से अब तक 17 लोगों की मौत हो गई है. देश में इसके करीब छह सौ मामले सामने आ चुके हैं. इसका सबसे ज्यादा असर चीन के मध्य हिस्से में पड़ने वाले शहर वुहान में दिख रहा है. यहां विमान सेवाओं सहित सभी सार्वजनिक परिवहन सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं. इस वायरस को चीन से बाहर फैलने से रोकने की कोशिशें भी जारी हैं. बाकी देश भी इस मामले में एहतियात बरत रहे हैं. भारत इस मामले में पहले ही यात्रा परामर्श जारी कर चुका है. देश के सात हवाई अड्डों पर चीन से आने वाले लोगों की कड़ी जांच हो रही है.

कोरोना वायरस और उसके लक्षण

कोरोना वायरस सी-फूड से जुड़ा है. डब्ल्यूएचओ के मुताबिक कोरोना वायरस विषाणुओं के परिवार का है और इससे लोग बीमार पड़ रहे हैं. यह वायरस ऊंट, बिल्ली तथा चमगादड़ सहित कई पशुओं में भी प्रवेश कर रहा है. दुर्लभ स्थिति में पशु मनुष्यों को भी संक्रमित कर सकते हैं. इस वायरस का मानव से मानव संक्रमण वैश्विक स्तर पर कम है.

कोरोना वायरस के मरीजों में आमतौर पर जुखाम, खांसी, गले में दर्द, सांस लेने में दिक्कत, बुखार जैसे शुरुआती लक्षण देखे जाते हैं. इसके बाद ये लक्षण निमोनिया और किडनी को नुकसान पहुंचाते हैं.