चुनाव आयोग ने ट्विटर को भाजपा नेता कपिल मिश्रा का एक ट्वीट हटाने का आदेश दिया है. दिल्ली विधानसभा चुनावों में मॉडल टाउन सीट से उम्मीदवार कपिल मिश्रा ने इस ट्वीट में कहा था कि आठ फरवरी को होने वाला चुनाव हिंदुस्तान और पाकिस्तान का मुकाबला है. चुनाव आयोग ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए भाजपा नेता से जवाब भी मांगा है.

कल कपिल मिश्रा ने कई ट्वीट किए थे. इनमें से एक में उनका कहना था, ‘आठ फरवरी को दिल्ली की सड़कों पर हिंदुस्तान और पाकिस्तान का मुकाबला होगा.’ एक अन्य ट्वीट में उनका कहना था, ‘पाकिस्तान की एंट्री शाहीन बाग में हो चुकी है और दिल्ली में छोटे छोटे पाकिस्तान बनाये जा रहे हैं.’ भाजपा उम्मीदवार ने यह दावा भी किया था कि इस चुनाव में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (आप) की हार तय है.

कपिल मिश्रा पहले आप के नेता हुआ करते थे. पिछले चुनाव में वे दिल्ली की करावलनगर विधानसभा सीट से चुने गए थे. बीते साल मई में लोकसभा चुनाव के दौरान उन्होंने भाजपा के लिए प्रचार किया था. इसके बाद दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने दलबदल विरोधी कानून के तहत कपिल मिश्रा को अयोग्य करार दे दिया था. इसके कुछ समय बाद वे भाजपा में शामिल हो गए थे.

उधर, अपने ट्वीट पर विवाद के बाद कपिल मिश्रा का कहना है कि वे अपनी बात पर कायम हैं. उनका कहना था, ‘मुझे नहीं लगता मैंने कुछ गलत कहा. इस देश में सच कहना अपराध नहीं है. मैंने सच कहा और मैं अपनी बात पर कायम हूं.’