ब्रिटेन : महारानी एलिजाबेथ ने समझौते पर मुहर लगाई, प्रिंस हैरी और मेगन शाही उपाधियां छोड़ेंगे | रविवार, 19 जनवरी 2020

प्रिंस हैरी और उनकी पत्नी मेगन मर्केल के शाही उपाधियां छोड़ने के फैसले पर ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने अंतिम मुहर लगा दी. प्रिंस हैरी और महारानी के बीच हुए एक समझौते में तय हुआ कि शाही परिवार की सदस्यता छोड़ने के बाद हैरी और उनकी पत्नी शाही उपाधि ‘रायल हाइनेस’ और सार्वजनिक कोष का इस्तेमाल नहीं करेंगे. इस समझौते के तहत प्रिंस हैरी और मेगन मर्केल कनाडा में अधिक निजी समय व्यतीत कर सकेंगे.

पीटीआई के मुताबिक बकिंघम पैलेस ने इस समझौते की घोषणा की. पिछले दिनों प्रिंस हैरी और मेगन ने शाही कर्तव्यों से अलग होने की घोषणा करके सभी को हैरान कर दिया था. इसके बाद से ही महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के साथ दंपति की निजी वार्ताएं शुरू हुई थीं. 93 वर्षीय ब्रिटेन की महारानी ने एक बयान में कहा, ‘कई महीनों की बातचीत और हाल में हुई वार्ता के बाद मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि हमने मिलकर मेरे पोते और उसके परिवार के लिए एक रचनात्मक और सहयोगात्मक मार्ग खोज निकाला है.’

इराक : अमेरिकी दूतावास के पास रॉकेट आकर गिरे | सोमवार, 20 जनवरी 2020

इराक की राजधानी बगदाद के उच्च सुरक्षा वाले क्षेत्र ‘ग्रीन जोन’ में स्थित अमेरिकी दूतावास के पास तीन रॉकेट आकर गिरे. पीटीआई ने सुरक्षा सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी. इस हमले में कोई हताहत नहीं हुआ. रॉकेट गिरते ही इलाके में जोर-जोर से सायरन बजने लगे. अमेरिका ने हाल के महीनों में ग्रीन जोन में हुए ऐसे ही हमलों के लिए ईरान समर्थित समूहों को जिम्मेदार ठहराया था, लेकिन इन हमलों की जिम्मेदारी किसी ने नहीं ली.

ईरान और अमेरिका के बीच हाल के समय में तनाव चरम पर पहुंच गया है. पहले अमेरिका ने एक रॉकेट हमले में ईरान के शीर्ष कमांडर कासिम सुलेमानी को मार गिराया. इसके बाद ईरान ने इराक में स्थित और अमेरिका के सैनिकों की मौजूदगी वाले दो सैन्य अड्डों पर मिसाइल हमले किए. इसके कुछ दिन बाद ग्रीन जोन में अमेरिकी दूतावास के पास रॉकेट आकर गिरे. इस पूरे घटनाक्रम के दौरान दोनों देशों के मुखियाओं के बीच तीखी बयानबाजी भी देखने को मिली.

अब आईएमएफ ने भी भारत की विकास दर का अनुमान घटाया, इस साल यह 4.8 फीसदी रह सकती है | मंगलवार, 21 जनवरी 2020

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर मोदी सरकार के लिए बुरी खबरों का दौर जारी है. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने चालू वित्त वर्ष (2019-20) में भारत की विकास दर के अनुमान में 1.3 फीसदी की कटौती करते हुए इसे 4.8 फीसदी कर दिया है. चीन और कुछ दूसरी बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की विकास दर के अनुमान में भी कटौती की गई है, लेकिन भारत के मामले में यह सबसे ज्यादा है. भारत ने वैश्विक विकास दर का अनुमान भी 0.1 फीसदी घटाया है और उसका कहना है कि इसमें 80 फीसदी योगदान भारत की सुस्ती का है.

आईएमएफ के मुताबिक अगले वित्त वर्ष (2020-21) में भारत की विकास दर 5.8 फीसदी रह सकती है. इस बढ़ोतरी की वजह उसने मौद्रिक नीति और अर्थव्यवस्था में सुधार के सरकार के प्रयासों को बताया है. हालांकि 5.8 फीसदी विकास दर का यह अनुमान भी पिछले अनुमान (7.4 फीसदी) के मुकाबले कम है. 2018-19 में भारत की विकास दर 6.8 फीसदी रही. यह पांच साल में इसका न्यूनतम स्तर था.

जेफ बेजोस के फोन की हैकिंग के तार मोहम्मद बिन सलमान से क्यों जुड़ते दिखते हैं? | बुधवार, 22 जनवरी 2020

एमेजॉन के मुखिया जेफ बेजोस फिर सुर्खियों में हैं. वजह है सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान द्वारा उनका फोन हैक किए जाने की खबर. बताया जा रहा है कि ऐसा वाट्सएप के जरिये किया गया. खबरों के मुताबिक मोहम्मद बिन सलमान ने जेफ बेजोस को 2018 के मध्य में एक वीडियो मैसेज भेजा था. जांचकर्ताओं को इसके सबूत मिले हैं कि इस मैसेज में एक ऐसा कोड था जिसकी मदद से एमेजॉन के मुखिया और दुनिया के सबसे अमीर शख्स के फोन की सुरक्षा में सेंध लगाई गई.

यह खबर जेफ बेजोस और उनकी पत्नी रहीं मैकेंजी स्कॉट टटल के तलाक के अप्रत्याशित ऐलान के एक साल बाद आई है. दोनों ने 25 साल के साथ के बाद अचानक अलग होने की घोषणा की थी. इसी दौरान अमेरिकी टेबलॉयड द नेशनल इंक्वायरर ने खबर छापी थी कि जेफ बेजोस का टीवी एंकर रहीं लॉरेन सॉन्चेज से विवाहेत्तर संबंध यानी एक्ट्रामैरिटल अफेयर चल रहा है. अखबार के मुताबिक उसकी इस खबर का स्रोत एमेजॉन के मुखिया द्वारा फोन से भेजे गए अंतरंग संदेश थे.

कश्मीर मुद्दे को लेकर तनाव से भारत के साथ व्यापार पर असर पड़ा : पाकिस्तान | गुरूवार, 23 जनवरी 2020

कश्मीर मुद्दे पर भारत-पाकिस्तान के बीच चल रहे तनाव से दोनों देशों के मध्य व्यापार में काफी गिरावट आई. पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक ने यह बात कही.

पाकिस्तानी अखबार ‘डॉन’ के मुताबिक, स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के 2019-20 के पहली छमाही के आंकड़ों में कहा गया कि जुलाई- दिसंबर में पाकिस्तान का भारत को निर्यात गिरकर 1.68 करोड़ डॉलर रह गया, जो कि 2018-19 की पहली छमाही में 21.3 करोड़ डॉलर था. आंकड़ों के मुताबिक, पाकिस्तान का भारत से आयात भी जुलाई-दिसंबर की अवधि में गिरकर 28.6 करोड़ डॉलर रहा, जो एक साल पहले इसी अवधि में 86.5 करोड़ डॉलर था. जिसके परिणामस्वरूप, भारत के साथ पाकिस्तान का व्यापार घाटा 26.9 करोड़ डॉलर है. रिपोर्ट में कहा गया है कि दोनों देशों के बीच व्यापार कम होने का कुछ खास असर व्यापार संतुलन पर नहीं पड़ा है. यह अब भी भारत के पक्ष में है.

अगर भारत बांग्लादेश से सीमा विवाद सुलझा सकता है तो हमसे क्यों नहीं : नेपाल | शुक्रवार, 24 जनवरी 2020

नेपाल ने कहा है कि अगर भारत बांग्लादेश के साथ सीमा विवाद सुलझा सकता है तो उसके साथ क्यों नहीं? शुक्रवार को काठमांडू में एक पत्रकार सम्मेलन में भारतीय पत्रकारों से बातचीत के दौरान नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ग्यावली ने यह बात कही. पीटीआई के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘अनसुलझे मुद्दे का बोझ लेकर आगे नहीं बढ़ना चाहिए क्योंकि दोनों देशों और उनके नेताओं के बीच समझ का स्तर सबसे ऊपर है. जहां चाह वहां राह और मेरा विश्वास है कि समस्याओं को सुलझाने की इच्छाशक्ति है.’

भारत के साथ कालापानी और सीमा की स्थिति के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि मुख्य मुद्दा दोनों देशों को अतीत से मिला बोझ है. ग्यावली का कहना था कि नेपाल की मौजूदा सीमा का निर्धारण 1816 की सुगौली संधि से हुआ था और इसके बाद 1816, 1860 और 1875 में अनुपूरक संधियां हुईं.

उनके मुताबिक संधि से जुड़े तीन और समझौते हैं जिसमें विशेष रूप से कहा गया है कि नेपाल की पश्चिमी सीमा का सीमांकन काली नदी से होगा, इसलिए ऐतिहासिक सबूत, दस्तावेज और मानचित्र काली नदी (नेपाल में महाकाली) को नेपाल की पश्चिमी सीमा के रूप में अंकित करते हैं.

चीन : कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 25 तक पहुंचा, 830 मामलों की पुष्टि | शनिवार, 25 जनवरी 2020

चीन में कोरोना वायरस के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हो गई. पीटीआई के मुताबिक 830 लोगों के इससे पीड़ित होने की पुष्टि हुई. चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि 24 लोगों की मौत मध्य चीन के हुबेई प्रांत में और एक की मौत उत्तरी चीन के हेबेई में हुई है. उसके मुताबिक वायरस संक्रमण के 1000 से ज्यादा संदिग्ध मामले भी सामने आए.

चीन ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए अभूतपूर्व कदम उठाते हुए वुहान सहित पांच शहरों को सील कर दिया. आज चीनी नववर्ष के पहले सड़कों पर भीड़भाड़ बढ़ने के मद्देनजर यहां गाड़ियों, ट्रेनों और विमानों समेत आवागमन के विभिन्न माध्यमों को रोक दिया गया. इन शहरों में तकरीबन दो करोड़ लोग रहते हैं.

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.