भारत ने कल अपना 71वां गणतंत्र दिवस मनाया. इस मौके पर दिल्ली के राजपथ पर एक बार फिर देश की सैन्य ताकत और सांस्कृतिक विविधता का नजारा दिखा. इस बार खास बात यह रही है कि गणतंत्र दिवस की परेड में सेना की पुरुष बटालियन का नेतृत्व पहली बार युवा महिला सैन्य अधिकारी कैप्टन तान्या शेरगिल ने किया. इस समारोह से जुड़ी तमाम खबरें आज के अखबारों के पहले पन्ने पर हैं. इसके अलावा दूसरे टी20 में भारत की न्यूजीलैंड पर सात विकेट से जीत भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है. इसके साथ ही भारत पांच मैचों की इस सीरीज में 2-0 से आगे हो गया है.

समझौते से एक दिन पहले असम में सिलसिलेवार चार धमाके

उग्रवादी गुटों और सरकार के बीच होने वाले समझौते से एक दिन पहले रविवार को असम के डिब्रूगढ़ और चराईदेव जिले में हुए सिलसिलेवार चार धमाकों से लोग सहम उठे. हालांकि, इनमें किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है. दैनिक जागरण के मुताबिक मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने घटना की कड़ी निंदा करते हुए दोषियों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. उधर, प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम-इंडिपेंडेंट ने धमाकों की जिम्मेदारी ली है. इसका सरगना परेश बरुआ है. बोडोलैंड की मांग करने वाले नेशनल डेमोक्रेटिक फेडरेशन ऑफ बोडोलैंड के चार गुटों ने हिंसा का रास्ता छोड़ने का फैसला किया है. इस सिलसिले में आज केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की मौजूदगी में इन संगठनों के प्रतिनिधि और असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल समझौते पर हस्ताक्षर करने वाले हैं.

चीन में कोरोना वायरस का कहर, भारतीयों के लिए तीसरी हेल्पलाइन जारी

चीन में खतरनाक कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. अब तक इससे 80 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. भारतीय दूतावास के मुताबिक मदद मांगने वाले लोगोंं के इतने फोन आ रहे हैं कि उसे तीसरी हेल्पलाइन जारी करनी पड़ी है. चीन के जिस वुहान शहर में सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं वहां छात्रों सहित काफी संख्या में भारतीय रहते हैं. हिंदुस्तान के मुताबिक भारतीय दूतावास ने बताया कि पिछले दो दिनों में उनके पास लगभग 600 कॉल आ चुकी हैं. चीन में भारतीय दूतावास ने पहले +8618612083629 और +8618612083617 नंबर शुरू किए थे. अब नए हेल्पलाइन नंबर +8618610952903 पर भी कॉल करके मदद मांगी जा सकती है.

भारत को बेहतर विपक्ष की जरूरत है : अभिजीत बनर्जी

सीएए पर देश भर में छिड़ी बहस के बीच नोबेल पुरस्कार विजेता अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी ने कहा है कि भारत को बेहतर विपक्ष की जरूरत है. जनसत्ता के मुताबिक उनका कहना था, ‘भारत को एक बेहतर विपक्ष की ज़रूरत है. और विपक्ष किसी भी लोकतंत्र का दिल होता है. सत्तारूढ़ दल को बेहतर विपक्ष की आकांक्षा होनी चाहिए ताकि वह उसे नियंत्रण में रख सके.’ कुछ समय पहले अभिजीत बनर्जी ने कहा था कि भारतीय अर्थव्यवस्था संकट में है और इसकी वजह है मांग की कमी. इसके बाद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने उन्हें वामपंथ की तरफ झुकाव वाला अर्थशास्त्री बताया था.