‘किसी को भी ऐसा काम नहीं करना चाहिए जो देश के हित के खिलाफ हो.’

— नीतीश कुमार, बिहार के मुख्यमंत्री

नीतीश कुमार की यह प्रतिक्रिया संशोधित नागरिकता कानून यानी सीएए के खिलाफ प्रदर्शनों के दौरान भड़काऊ भाषण देने के आरोपित शरजील इमाम की गिरफ्तारी पर आई. उसकी गिरफ्तारी बिहार के जहानाबाद स्थित उसके गांव से हुई. अपने भाषण में शरजील इमाम असम का संपर्क भारत से काटने की बात करते हुए दिखा था.

‘हमने ऐतिहासिक रूप से किए गए अन्याय को दुरुस्त कर दिया है.’   

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात नए नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर कही. दिल्ली में नेशनल कैडेट कॉर्प्स (एनसीसी) की एक रैली में उन्होंने कहा कि इसके जरिये पड़ोसी देशों के अल्पसंख्यकों से किए गए वायदे को पूरा किया गया है. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘यही गांधी जी की भी इच्छा थी. नेहरू-लियाक़त समझौते की भी यही भावना थी लेकिन ऐसे पीड़ित लोगों से मुंह फेर लिया गया.’


‘बापू भी देश के ग़द्दार थे इनके लिए. गोली मार दी थी उनको भी.’  

— कन्हैया कुमार, जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष

कन्हैया कुमार ने यह बात दिल्ली विधानसभा चुनाव के मद्देनजर एक जनसभा में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर द्वारा विवादित नारे लगवाए जाने के संदर्भ में कही है. इसके लिए दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी ने उनसे जवाब भी मांगा है. कन्हैया कुमार ने कहा कि बापू आज भी देश के लोगों के दिलों में जिंदा हैं.