वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अस्वस्थ होने के कारण लोकसभा में बजट भाषण के कुछ पन्ने नहीं पढ़ सकीं. करीब पौने तीन घंटे के बजट भाषण के दौरान तबीयत खराब होने पर उन्होंने तीन बार पानी पिया. हालांकि इससे कुछ फायदा नहीं हुआ. आखिर में सदन में विपक्ष के सदस्यों ने उनसे बजट दस्तावेज सभापटल पर रखने का आग्रह किया. इस पर निर्मला सीतारमण ने कहा कि सिर्फ दो पन्ने बचे हैं.

इसके बाद वित्त मंत्री ने दोबारा बजट पढ़ने का प्रयास किया, लेकिन वे ठीक से नहीं पढ़ पा रही थीं. यह देखकर सदन में पास ही बैठे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से कुछ कहा. इसके बाद नितिन गडकरी ने एक टॉफी निकाल कर निर्मला सीतारमण को दी. लेकिन इसके बाद भी उन्हें बजट भाषण पढ़ने में परेशानी होने पर कुछ केंद्रीय मंत्रियों ने आग्रह किया कि बजट दस्तावेज सभा पटल पर रख दिया जाए. इसके बाद वित्त मंत्री ने लोकसभा अध्यक्ष की अनुमति से बजट भाषण सभा पटल पर रख दिया. बाद में निर्मला सीतारमण राज्यसभा गयीं और बजट से जुड़े कागजात सदन के पटल पर रखे.