शाहीन बाग में गोली चलाने वाले कपिल बैसला के पिता गजे सिंह ने कहा है कि उनके बेटे का किसी पार्टी से कोई संबंध नहीं है. हालांकि उनका यह भी कहना था कि कपिल ‘पीएम मोदी और अमित शाह का सेवक’ था और वह शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ हो रहे धरने के चलते लग रहे जाम से परेशान था.

कपिल बैसला ने एक फरवरी को शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन स्थल के नजदीक हवा में गोलियां चलाई थीं. इसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया था. कल पुलिस ने कहा था कि 25 साल का यह शख्स दिल्ली में सत्तारूढ़ दल आप का सदस्य है. पुलिस का कहना था कपिल बैसला और उसके पिता वर्ष 2019 की शुरुआत में आम आदमी पार्टी में शामिल हुए थे. विशेष पुलिस आयुक्त (खुफिया) प्रवीर रंजन के मुताबिक कपिल बैसला ने जांच के दौरान स्वीकार किया है कि वह पिछले वर्ष आप में शामिल हुआ था. उनका यह भी कहना था कि कपिल बैसला के आप में शामिल होने की तस्वीरें उपलब्ध हैं और ये जांच के दौरान पुलिस को भी प्राप्त हुईं.

गजे सिंह पहले बहुजन समाज पार्टी के सदस्य थे. हालांकि 2012 में निकाय चुनाव हारने के बाद उन्होंने राजनीति छोड़ दी थी. उन्होंने 2008 दिल्ली विधानसभा चुनाव जंगपुरा से बसपा के टिकट पर लड़ा था और हार गए थे. आप की टोपी वाली तस्वीरों पर उन्होंने कहा, ‘पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान एक कार्यक्रम हो रहा था जहां दल्लूपुरा के लोगों को आमंत्रित किया गया था. मैं भी अपने बेटे के साथ वहां गया. आप के नेताओं ने हमारा स्वागत किया और आप की टोपी पहनाई. इसका यह मतलब नहीं हुआ कि हम आप सदस्य हैं.’ बैसला परिवार के सदस्यों का कहना है कि अगर आप ने गजे सिंह और उनके बेटे को शामिल किया था तो इससे संबंधित पत्र या अन्य सबूत होने चाहिए.