‘अब मैं सूर्य नमस्‍कार करने की संख्‍या बढ़ा दूंगा, ताकि डंडे खाने के लिए अपनी पीठ को मजबूत कर सकूं.’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री ने यह बात लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान अपने भाषण में कही. उन्होंने यह तंज कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर किया जिन्होंने कहा था कि य़ह महीने बाद बेरोजगारी से त्रस्त युवा नरेंद्र मोदी को डंडे मारेंगे. प्रधानमंत्री के तंज पर प्रतिक्रिया देने के लिए अपनी सीट से राहुल गांधी उठे, लेकिन संसद के शोरगुल में उनकी आवाज सुनाई नहीं दी. नरेंद्र मोदी ने इस पर भी तंज कसते हुए कहा कि वे पिछले 40 मिनट से बोल रहे हैं, लेकिन वहां करंट अभी पहुंचा है क्योंकि बहुत सी ट्यूबलाइट ऐसी ही होती हैं.

‘भाजपा में कोई भी मुख्यमंत्री बनने के लायक नहीं है.’  

— अरविंद केजरीवाल, दिल्ली के मुख्यमंत्री

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने यह बात दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार के आखिरी दिन कही. अरविंद केजरीवाल के मुताबिक लोग जानना चाहते हैं कि भाजपा का मुख्यमंत्री पद का दावेदार कौन होगा. उन्होंने कहा, ‘क्या होगा अगर वे संबित पात्रा या अनुराग ठाकुर हुए?’ इससे पहले कल आप प्रमुख ने भाजपा को मुख्यमंत्री पद के लिए अपना उम्मीदवार घोषित करने और उसे अपने साथ बहस करने की चुनौती भी दी थी.


‘अगर आप चाहते हैं कि किसी संस्थान में 25 साल बैठकर ये हो जाए तो ऐसा नहीं होने वाला.’  

— अनुपम खेर, फिल्म अभिनेता

अनुपम खेर ने यह बात जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर तंज कसते हुए कही. उन्होंने कहा कि अगर कन्हैया कुमार को भुखमरी या जात-पांत से आजादी चाहिए तो इसके लिए सिर्फ नारे लगाने से काम नहीं चलेगा बल्कि इसके लिए काम भी करना होगा. अनुपम खेर का कहना था, ‘आजाद भारत में अगर हमें किसी भी चीज से आज़ादी चाहिए तो उसके लिए हमें काम करना चाहिए, जो कि देश के करोड़ों युवा कर रहे हैं...नारों से जो आजादी प्राप्त करना चाहते हैं उनका देश के प्रति सिवाय नारों के और क्या योगदान है?’