केरल सरकार के बजट दस्तावेज के कवर पर महात्मा गांधी की हत्या की पेंटिंग लगाने के चलते विवाद खड़ा हो गया है. केरल के विपक्षी दल कांग्रेस और भाजपा ने इसे लेकर विरोध जताया है.

हालांकि, केरल के वित्त मंत्री टीएम थॉमस इसाक ने बजट के कवर पर गांधी के हत्या की फोटो लगाने का बचाव करते हुए कहा कि देश बापू के हत्यारे को कभी नहीं भूल सकेगा. वित्त मंत्री थॉमस इसाक ने कहा, ‘हां, हमें याद है कि महात्मा गांधी की हत्या हुई थी. हम यह नहीं भूल सकेंगे कि उनकी हत्या किसने की थी.’ उन्होंने कहा कि यह फोटो दिखाती है कि राष्ट्रपिता खून में लेटे हुए हैं और समर्थक उन्हें घेरे हुए हैं. इसाक ने यह भी कहा कि इस पेंटिंग को केरल के ही एक कलाकार ने बनाया, इसका चित्रण अब अधिक प्रासंगिक है क्योंकि देश के इतिहास को फिर से लिखने की कोशिश की जा रही है. वित्त मंत्री ने आगे कहा, ‘यह महत्वपूर्ण है क्योंकि लोकप्रिय यादों को मिटाने की कोशिश की जा रही है. इसके अलावा एनपीआर के जरिए से देश को सांप्रदायिक आधार पर विभाजित किया जा रहा. लेकिन केरल एकजुट रहेगा.’

कांग्रेस नेता रमेश ने कहा, ‘महात्मा गांधी को बजट भाषण में खींचना गलत है, हम लंबे समय से सांप्रदायिक ताकतों से लड़ रहे हैं. मुझे नहीं लगता कि ऐसा करना सही था.’ बीजेपी प्रवक्ता जेआर पद्मकुमार ने केरल सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह वाम मोर्चे की सरकार का दिवालियापन दिखाता है. बीजेपी प्रवक्ता ने कहा, ‘दुख की बात है कि उनके पास कुछ कहने या दिखाने के लिए नहीं है.’ मुस्लिम लीग के नेता के एम मुनीर ने भी सरकार के इस फैसले को गलत बताया.