आम आदमी पार्टी (आप) ने दावा किया है कि कुछ अधिकारियों ने इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) को अनधिकृत रूप से ले जाने की कोशिश की. आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने एएनआई से कहा, ‘सूचना मिली कि कई स्थानों पर अधिकारियों ने अनधिकृत रूप से ईवीएम को ले जाने की कोशिश की. इसके बाद मनीष सिसोदिया, गोपाल राय, प्रशांत किशोर और मैंने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ बैठक की.’

संजय सिंह ने अपने सेल फोन पर एक वीडियो भी दिखाया जिसमें एक चुनाव अधिकारी डीटीसी की बस में हाथ में ईवीएम लिए दिखाई दे रहा है. सिंह ने आगे कहा, ‘यह बदरपुर के शांति निकेतन का वीडियो है. यहां लोगों ने अधिकारी को ईवीएम के साथ पकड़ा है. इसी तरह की जानकारी पूर्वी दिल्ली के शहदरा और विश्वास नगर से मिली है...ईवीएम सील करके सीधे स्ट्रांग रूमों में भेजी जाती हैं, फिर अधिकारियों को वे ईवीएम कैसे मिलीं.’

आप सांसद का यह भी कहना था कि यह बड़ी घटना है जो सामने आई है. इसके बारे में चुनाव आयोग को सूचित किया जाएगा. उनके मुताबिक आगे ईवीएम में छेड़छाड़ न हो सके, इसके लिए पार्टी के एमएलए और कार्यकर्ता स्ट्रांग रूमों के बाहर मौजूद रहेंगे.

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के लिए शनिवार को मतदान हुआ था. मतदान खत्म होने के बाद अलग-अलग चैनल और एजेंसियों ने अपने एग्जिट पोल की घोषणा की. सभी एग्जिट पोल में दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी की वापसी की बात कही गई है. हालांकि, एग्जिट पोल में पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले आम आदमी पार्टी को कम सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है और भाजपा की सीटें बढ़ने की बात कही गई है. लेकिन भाजपा बहुमत के आंकड़े से काफी दूर नजर आ रही है. दिल्ली विधानसभा चुनाव की मतगणना 11 फरवरी को होगी.